हरिका को कांस्य से करना पड़ा संतोष

07

तेहरान। भारतीय ग्रैंडमास्टर द्रोणवल्ली हरिका को रविवार को विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप के सेमीफाइनल टाईब्रेक में चीन की टान झोंग्यी के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी और इस प्रतियोगिता में कांस्य पदक के साथ संतोष करना पड़ा।उनका यह लगातार तीसरा कांस्य पदक है। इससे पहले 2012 और 2015 में भी हरिका कांस्य पदक हासिल कर पाई थीं।हरिका टाईब्रेकर में कई मौकों का फायदा नहीं उठा पाई, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। फाइनल में अब झोंग्यी का सामना उक्रेन की अन्ना मुजिचुक से होगा। अन्ना ने रूस की अलेक्जेंड्रा कोस्तेनिउक को 2-0 से हराकर फाइनल में जगह सुनिश्चित की है।

हरिका ने टाईब्रेकर की पहली बाजी में जीत के साथ शुरुआत की। उन्होंने सिर्फ 17 चाल में जीत दर्ज की। उन्होंने दूसरी बाजी में गलती की और ड्रॉ की स्थिति में होने केबावजूद मैच गंवा दिया। दूसरे टाईब्रेक में हरिका ने काले मोहरों से खेलते हुए पहली बाजी गंवाई, लेकिन दूसरी बाजी जीतकर एक बार फिर स्कोर बराबर कर दिए।झोंग्यी ने हालांकि इसके बाद ब्लिट्ज बाजी 99 चाल में जीतकर फाइनल में प्रवेश किया। झोंग्यी ने 5-4 से जीत दर्ज की।