क्रिकेटर एश्ले बार्टी ने पहली बार जीता विंबलडन

07

लंदन. ऑस्ट्रेलिया की टेनिस खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने पहली बार विंबलडन 2021 का खिताब जीत लिया है. महिला सिंगल्स के फाइनल में बार्टी ने चेक रिपब्लिक की कैरोलिना प्लिस्कोवा को तीन सेटों में 6-3, 6-7, 6-3 से हराया. बार्टी का यह ओवरऑल दूसरा सिंगल्स का ग्रैंड स्लैम टाइटल है. नंबर-1 एश्ले बार्टी ने इससे पहले 2019 में फ्रेंच ओपन का खिताब जीता था. फाइनल में एश्ले बार्टी ने अच्छी शुरुआत की. उन्होंने शुरुआत में ही कैरोलिना प्लिस्कोवा की दो सर्विस ब्रेक की और पहले सेट में 4-0 की बढ़त बना ली. हालांकि इसके बाद प्लिस्कोवा ने वापसी की और स्कोर 3-5 कर दिया. लेकिन इसके बाद बार्टी ने अपनी सर्विस में जीत हासिल कर पहला सेट 6-3 से अपने नाम किया. लेकिन प्लिस्कोवा ने दूसरा सेट 7-6 से जीतकर स्काेर 1-1 से बराबर कर दिया. अंतिम सेट में बार्टी ने प्लिस्कोवा को मौका नहीं दिया अंतिम सेट में 25 साल की एश्ले बार्टी ने कैरोलिना प्लिस्कोवा को कोई मौका नहीं दिया. उन्होंने 3-0 की बढ़त बना ली थी. इसके बाद स्कोर 4-2 हुआ. अंत में बार्टी ने सेट 6-3 से जीतकर मुकाबला अपने नाम किया. यह मुकाबला एक घंटे 55 मिनट तक चला. बार्टी सितंबर 2019 से टॉप रैंकिंग पर बनी हुई हैं. यह उनकी सिंगल्स में ओवरऑल 281वीं जीत है. उन्हें 100 मैच में हार मिली है. यह उनके ओवरऑल करियर का 12वां सिंगल्स टाइटल है. बिग बैश लीग में उतर चुकी हैं एश्ले बार्टी टेनिस से पहले 2015-16 में ऑस्ट्रेलिया की टी20 लीग बिग बैश में भी उतर चुकी हैं. वे ब्रिस्बेन हीट की आरे से खेलती थीं. हालांकि 9 मैच में वे एक भी अर्धशतक नहीं लगा सकी थीं. 39 रन उनका सबसे बड़ा स्कोर रहा था. वे टोक्यो ओलंपिक में भी दमखम दिखाएंगी. वहीं पुरुष सिंगल्स की बात की जाए तो सर्बिया के नोवाक जोकोविच फाइनल में पहुंच गए हैं. वे खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं.