उत्तराखंड के क्रिकेटरों का भविष्य संवारने का खाका खींचा

07

देहरादून,। उत्तराखंड क्रिकेट संघ (सीएयू) की शीर्ष परिषद की बैठक में उत्तराखंड के क्रिकेटरों का भविष्य संवारने का खाका खींचा गया। इसका रोडमैप तैयार कर लिया गया है। इसके तहत प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल चुके खिलाडि़यों को नौकरी देने के साथ ही सालाना अनुबंध व स्कॉलरशिप दी जाएगी। कुछ पर अंतिम फैसला कर लिया गया, जबकि कुछ पर शीर्ष परिषद की अगली बैठक में मुहर लगने की उम्मीद है।

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड द्वारा शुरू की जा रही स्कॉलरशिप योजना में खिलाड़ियों को हर माह 10 हजार रुपये दिए जाएंगे, जबकि अनुबंधित खिलाड़ियों को मिलने वाली धनराशि पर शीर्ष परिषद की अगली बैठक में निर्णय किया जाएगा। ऐसा करने वाला बीसीसीआइ से संबद्ध यह पहला राज्य संघ है, जिसने खिलाड़ियों को अनुबंध में शामिल किया है। बीसीसीआइ के उपाध्यक्ष व सीएयू के सचिव माहिम वर्मा ने बताया कि खिलाड़ियों को नौकरी देने की योजना पर प्रारंभिक चर्चा पूरी हो चुकी है। शीर्ष परिषद की अगली बैठक में इसे धरातल पर उतारने पर मुहर लगाई जाएगी। इसके तहत उत्तराखंड के जो खिलाड़ी कोच, आब्जर्वर व क्रिकेट से जुड़े अन्य क्षेत्रों में रुचि रखते हैं उन्हें उसी अनुरूप नौकरी दी जाएगी।

योजनाएं बनाना जरूरी

माहिम वर्मा ने कहा कि क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए योजनाएं बनानी जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि जो खिलाड़ी घरेलू सत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हैं, उनके लिए वार्षिक अनुबंध जरूरी है। इससे सत्र समाप्त होने के बाद खिलाड़ियों को आर्थिक तंगी से नहीं जूझना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि सीएयू देश का पहला राज्य क्रिकेट संघ है, जिसने राज्य के खिलाड़ियों के हित में निर्णय लेते हुए वार्षिक अनुबंध व स्कॉलरशिप योजना लागू की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य गठन के बाद उत्तराखंड को बीसीसीआइ से मान्यता नहीं होने से उत्तराखंड के खिलाड़ियोंको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। कई प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को अन्य राज्यों से खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा। लेकिन, अब उत्तराखंड के खिलाड़ियों के लिए उचित कदम उठाए जा रहा है, जिससे खिलाड़ी घर वापसी भी कर रहे हैं।

शीर्ष परिषद के प्रमुख निर्णय

  • जूनियर, अंडर-16 बालक व अंडर-19 बालक-बालिका टीम में सत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शीर्ष-पांच खिलाड़ियों को हर महीने 10 हजार रुपये स्कॉलरशिप दी जाएगी।

- सीनियर और अंडर-23 पुरुष-महिला वर्ग में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के साथ सीएयू की वार्षिक अनुबंध व्यवस्था लागू होगी। अगली बैठक में वार्षिक अनुबंध में मिलने वाली धनराशि पर निर्णय जाएगा।

- अंडर-14 आयु वर्ग की प्रतियोगिता व क्रिकेट गतिविधियों के लिए दीपक मेहरा को कॉर्डिनेटर नियुक्त किया गया।

हीरा सिंह बिष्ट, पीसी वर्मा व एएस मेंगवाल को सीएयू का पैटर्न नियुक्त किया गया, जबकि चीफ पैटर्न पद के लिए मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भेजा जाएगा।

- माहिम वर्मा के बीसीसीआइ उपाध्यक्ष बनने पर अब सीएयू अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला उत्तराखंड के प्रतिनिधि के रूप में बैठक में शामिल होंगे।

- उत्तराखंड के दो जोन गढ़वाल व कुमाऊं बनाए गए हैं, जहां जिला संघ के साथ मिलकर साल भर क्रिकेट गतिविधियां आयोजित कराई जाएंगी।

-सीएयू साल में एक वार्षिक पुरस्कार समारोह आयोजित करेगी, जिसमें साल भर में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी, कोच व अन्य स्टाफ को सम्मानित किया जाएगा।

-सीएयू साल भर में एक वार्षिक कॉनक्लेव का आयोजन करेगी, जिसमें कार्यशाला, प्रशिक्षण शिविर आदि के जरिये सहायक स्टाफ को भी प्रशिक्षित किया जाएगा।