टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल ने जीता अर्जेंटीना में एटीपी चैलेंजर, रचे कई कीर्तिमान

07

भारत के उदीयमान टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल ने ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर क्ले इवेंट टाइटल जीत लिया है. यह इस सीजन में किसी भारतीय का पहला एटीपी चैलेंजर टाइटल है. जबकि 22 साल के नागल के करियर का यह दूसरा चैलेंजर खिताब है. उन्होंने पहली बार 2017 में बेंगलुरु चैलेंजर इवेंट पर कब्जा जमाया था.सुमित नागल ने अर्जेंटीना में ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट के फाइनल में अर्जेंटीना के वर्ल्ड नंबर-166 फेकुंडो बैगनिस को 6-4, 6-2 से हराया. सेमीफाइनल में उन्होंने ब्राजील के वर्ल्ड नंबर-108 थियागो मोंटेइरो को 6-0, 6-1 से हराया था. इस खिताब के साथ ही सुमित ने एटीपी की जारी ताजा रैंकिंग में 26 स्थान की छलांग मारते हुए करियर बेस्ट 135वें स्थान पर कब्जा कर लिया है.नागल ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर खिताब जीतने वाले पहले एशियाई हैं. पाब्लो क्यूवास, काइल एडमंड और पाब्लो अंडुजर ही गैर-अर्जेंटिनाई खिलाड़ी हैं, जिन्होंने इस प्रतियोगिता को जीता है. नागल को प्रतियोगिता में 7वीं सीड मिली थी, जबकि अर्जेंटीना के फेकुंडो बैगनिस को 8वीं वरीयता दी गई थी. नागल दक्षिण अमेरिकी धरती पर क्ले टाइटल जीतने वाले पहले भारतीय भी बने.

सुमित नागल ने बिना कोच के जीता खिताब

सुमित नागल ने इस खिताबी जीत के बाद कहा, 'यह काफी शानदार था. मैं यहां अकेले आया था. मेरे साथ मेरे कोच (सासा नेंनसेल) और ट्रेनर (मिलोस गागेलिक) भी नहीं थे. कोच के बिना खेलना मुश्किल होता है. लेकिन अब यहां ट्रॉफी उठाना मेरे लिए वाकई शानदार है और मुझे खुद पर गर्व है.'उन्होंने कहा, 'आज मैं यहां खिताब जीता हूं और अब मुझे अगले सप्ताह ब्राजील जाना है. जहां एक और चैलेंजर टूर्नामेंट खेलना है. इसलिए मेरे पास इस जीत का जश्न मनाने का समय नहीं है. मुझे अभी भी काफी मेहनत करने की जरूरत है, ताकि मैं अपने प्रदर्शन में और सुधार कर सकूं.'सुमित नागल इस साल यूएस ओपन में रोजर फेडरर से 6-4, 1-6, 2-6, 4-6 से लड़ते हुए हार गए थे. 2015 में विंबलडन (जूनियर) के ब्वॉयज डबल्स में चैम्पियन रहे सुमित नागल 20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता फेडरर के खिलाफ पहला सेट जीतने वाले वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे.