खेल मंत्रालय ने समाप्त किया आईओए का निलंबन

07

दिल्ली खेल मंत्रालय ने सुरेश कलमाड़ी और अभय चौटाला को आजीवन अध्यक्ष बनाने का फैसला वापस लेने के बाद इंटरनैशनल ओलिंपिक असोसिएशन (आईओए) का निलंबन समाप्त कर दिया है। कलमाड़ी और चौटाला को आजीवन अध्यक्ष बनाने के बाद भारतीय ओलिंपिक संघ को चौतरफा विरोध का सामना करना पड़ा था और खेल मंत्रालय ने आईओए को निलंबित कर दिया था। मंत्रालय ने शर्त रखी थी कि जब तक दोनों की नियुक्ति रद नहीं की जाती, आईओए को निलंबित रखा जाएगा।

इससे पहले 10 जनवरी को कलमाड़ी और चौटाला की नियुक्ति रद किए जाने के बाद संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि ऐसा खेल मंत्रालय से अनुमोदन और इंटरनैशनल ओलिंपिक कमिटी की ओर से किसी संभावित कार्यवाही को टालने के उद्देश्य से किया गया है। कलमाड़ी और चौटाला को 27 दिसंबर को चेन्नै में हुई आईओए की वार्षिक बैठक में मानद अध्यक्ष बनाया गया था।एक उच्च स्तरीय आईओए के अधिकारी ने कहा था कि वार्षिक बैठक के सभी दस्तावेजों को देखने के बाद यह पता चला कि उनकी नियुक्ति में तकनीकी खामी थी। अधिकारी ने आगे कहा कि कलमाड़ी और चौटाला अब आईओए का हिस्सा नहीं हैं और उनका ओलिंपिक संघ से कोई लेना-देना नहीं है।