प्रवीण का सपना है देश के लिए खेलना

07

सोलन : रणजी ट्रॉफी में खेलने का गौरव प्राप्त कर चुके चंबाघाट के प्रवीण ठाकुर का सपना देश के लिए खेलने का है। बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज प्रवीण ने पंजाब के मोहाली में आयोजित रणजी मैच में प्रदेश की टीम से डेब्यू किया। रणजी के पहले ही मैच में छोटी लेकिन आकर्षक पारी खेलकर 44 रन बनाए।प्रवीण ठाकुर ने बताया कि उनका लक्ष्य भारत के लिए खेलना है। इसके लिए वह लगातार प्रयासरत हैं। मोहाली में छह दिसंबर को शुरू हुई रणजी ट्रॉफी में फ‌र्स्ट डाउन पर आए प्रवीण ने बेहतर प्रदर्शन कर यह साबित भी कर दिया है। सोलन में बंटी के नाम से मशहूर प्रवीण ने क्रिकेटर प्रशांत चोपड़ा के पिता व कोच शिव चोपड़ा से क्रिकेट की बारीकियां ठोडो मैदान में सीखी हैं। प्रवीण काफी समय से इंटर डिस्ट्रिक क्रिकेट में जिला का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उन्होंने सोलन की ओर से खेलते हुए इंटर डिस्ट्रिक में 200 रन की पारी भी खेली है। प्रवीण ठाकुर ने बताया कि उनका परिवार मूलत: जुब्बल जिला शिमला से संबंध रखता है, लेकिन उनका जन्म 1992 में जिला सोलन में ही हुआ। यहां उनका मकान सोलन के बैरखास गांव चंबाघाट के नजदीक है। उनकी प्रारंभिक शिक्षा सोलन में ही हुई। बीएल स्कूल से शुरुआती शिक्षा के बाद वह धर्मशाला की क्रिकेट अकादमी के लिए चयनित हुए। इस साल सीनियर डिस्ट्रिक टूर्नामेंट में 626 रन बनाए हैं। इसमें दो शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं। जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीप शर्मा, सचिव राजेश पुरी, भाजयुमो मंडल अध्यक्ष मुकेश शर्मा सहित उनके दोस्तों ने इस कामयाबी के लिए प्रवीण को बधाई दी है।