धौनी की बेइज्जती का बदला पत्नी ने लिया

07

नयी दिल्ली : आईपीएल में भले ही दो साल के लिए चेन्‍नई सुपरकिंग्स के खेलने पर रोक लग गयी है, लेकिन आज भी उसके चाहने वालों की कमी नहीं हुई है. जब से आईपीएल की शुरुआत हुई सीएसके ने अपने चाहने वालों के बीच ऐसी पहचान बनायी कि आज भले ही टीम मैदान पर नहीं है, लेकिन उसके चाहने वाले की जुंबा पर चेन्नई का नाम हमेशा रहता है. इसका साफ कारण है इस टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का होना.धौनी ने अपनी अगुआई में इस टीम को आईपीएल का सबसे सफल टीम बनाया था. चेन्नई सुपरकिंग्स आईपीएल में दो बार खिताब जितने में कामयाब रही है वहीं यह टीम छह बार फाइनल तक पहुंची. चेन्नई सुपरकिंग्स को उसके फैन्स मिस तो कर ही रहे हैं महेंद्र सिंह धौनी की पत्नी साक्षी सिंह धौनी भी इस टीम को मिस कर रही हैं.

तभी तो साक्षी ने चेन्नई सुपरकिंग्स की जर्सी और हेलमेट वाली एक फोटो शेयर की है, जिसे देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो खुद भी धौनी की पुरानी फ्रेंचाइजी टीम को कितना मिस कर रही हैं. धौनी के नेतृत्व में सीएसके की टीम 2010 और 2011 में दो बार खिताब भी जीत चुकी है.दरअसल उन्‍होंने आइपीएल के 10वें सीजन में महेंद्र सिंह धौनी की पत्नी साक्षी ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट टीम के को-ऑनर हर्ष गोयनका को सोशल मीडिया के जरिये करारा जवाब दिया है. हालांकि पोस्ट में गोयनका का नाम नहीं लिया. पोस्ट पढ़ कर ऐसा लग रहा है कि वो धौनी की बेइज्जती का जवाब देना चाह रही हैं. 

 दरअसल महेंद्र सिंह धौनी आईपीएल-10 में पहली बार बतौर खिलाड़ी मैदान पर हैं. उनके को-ऑनर हर्ष गोयनका ने उन्‍हें क‍प्‍तानी से हटा दिया और ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्मीथ को नया कप्तान बनाया. पहले खबर आयी थी कि धौनी ने खुद कप्तानी छोड़ी है, लेकिन गोयनका ने एक ट्वीट कर जानकारी दिया था कि धौनी ने खुद कप्‍तानी से इस्‍तीफा नहीं दिया है बल्कि उन्‍होंने धौनी को हटाया है. उन्होंने इसके पीछे कारण भी बताया था कि टीम को एक युवा कप्तान की जरूरत है. हालांकि उन्होंने उस समय धौनी की काफी तारीफ भी की थी और उन्हें दुनिया का सबसे बेहतरीन कप्तान बताया था.
 
आईपीएल में धोनी की टीम के लिए हर बार ग्राउंड पर रहने वाली साक्षी ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट टीम के को-ओनर हर्ष गोयनका को सोशल मीडिया के जरिए करारा जवाब दिया है. कुछ दिन पहले पुणे टीम के को-ओनर हर्ष गोयनका ने पहला मैच जीतने के बाद ट्वीट किया था. जहां उन्होंने जंगल का असली राजा कैप्टन स्‍टीव स्मिथ को बताया था और कहा था कि कप्तान बदलने का फैसला सही था.
फैंस से काफी खरी-खोटी सुनने के बाद गोयनका ने ये ट्वीट डिलीट कर दिया, लेकिन इसके बाद भी वे नहीं रुके और धोनी को लेकर ट्वीट करते रहे. शनिवार को आरपीएस ने दूसरे मैच में पंजाब टीम से हार का सामना किया तो हर्ष ने एक बार फिर ट्वीट किए. उन्होंने इस सत्र में पुणे खिलाड़ियों के स्ट्राइक रेट का एक स्क्रीनशॉट साझा किया, साथ ही उन्होंने लिखा कि मनोज तिवारी, रहाणे और क्रिश्चियन का सबसे अच्छा स्ट्राइक रेट है. हर्ष ने धोनी का नाम नहीं लिया लेकिन स्क्रीनशॉट में धोनी का नाम पांचवे नंबर पर था जो उनके फैन्स को नाराज करने के लिए काफी था.

धोनी के फैन्स ने ऐसे ट्वीट्स को धोनी की बेइज्जती माना, लेकिन धोनी शांत रहे. उन्होंने कुछ ऐसा नहीं कहा जिससे कोई कॉन्ट्रोवर्सी हो, लेकिन पत्नी साक्षी धोनी ने करारा जवाब दिया है. हालांकि, साक्षी ने अपनी पोस्ट में किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन पोस्ट पढ़कर ऐसा लग रहा है कि वो धोनी की बेइज्जती का जवाब देना चाह रही हैं.

जवाब देने से पहले उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स का हेलमेट पहने अपनी फोटो अपलोड की. जिससे जाहिर होता है कि वो चेन्नई को काफी मिस कर रही हैं. या फिर ये कहें कि चेन्नई सुपर किंग्स अगले साल फिर आईपीएल में वापसी कर रही है. हालांकि, आईपीएल को फॉलो करने वाले क्रिकेट फैन अच्‍छी तरह जानते हैं कि चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स में धोनी की हैसियत मालिक से कम नहीं थी. साक्षी ने अपनी इंस्‍टाग्राम पोस्‍ट के जरिए पुणे के मालिक पर इस तरह से करारा जवाब दिया है-

उसके बाद उन्होंने एक ऐसा ट्वीट किया जिससे जाहिर होता है कि वो ओनर संजीव गोयनका और को-ओनर हर्ष गोयनका के हमलों का जवाब दे रही हैं. उनके इस इंस्टाग्राम पोस्ट पर लोगों भी कह रहे हैं कि- "गोयनका को करारा जवाब दिया है."

उन्होंने इस पोस्ट में कहा है कि 'कर्म का नियम, जब पक्षी जिंदा होते हैं, तो चींटी को खाते हैं. पक्षी के मरने के बाद, चींटी उन्हें खाती है. समय और परिस्थिति कभी भी बदल सकती है. इसलिए जिंदगी में कभी किसी को नीचा नहीं दिखाना चाहिए, ना ही किसी को दुख पहुंचाना चाहिए. आप आज पॉवरफुल हो सकते हैं, लेकिन समय आपसे ज्यादा बलवान है. एक पेड़ से लाखों माचिस बनती हैं, लेकिन एक माचिस की तीली से लाखों पेड़ जलाए जा सकते हैं. इसलिए अच्छे बनिए और अच्छा करिए.'

हर्ष गोएनका के ट्वीट के बाद फैन्स के ऐसे ट्वीट्स आए जहां, वो उनपर गुस्सा निकाल रहे हैं और धोनी को अभी भी हीरो समझ रहे हैं. आईपीएल के शुरू होते ही पुणे टीम को धोनी के फैन्स के गुस्सा का शिकार होना पड़ा. सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का तो कहना है कि धोनी को इस टीम के साथ रहना ही नहीं चाहिए. अब आगे ये देखना होगा कि हर्ष इस पर क्या ट्वीट करते हैं और स्टीवन स्मिथ की कप्तानी में पुणे टीम कैसा परफॉर्म करती है.

आईपीएल 10 की बोली लगने से एक दिन पहले आरपीएस की टीम की कप्तानी माही की जगह ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को सौंप दी गई थी. पिछले नौ सत्रों से धोनी ने आईपीएल की टीमों की अगुवाई की है. 2008 से 2015 तक वह चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान थे और फिर चेन्नई फ्रेंचाइज़ सस्पेंड होने के बाद 2016 में पुणे सुपरजायन्ट्स की कप्तानी उन्होंने संभाली.