ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में हारे साइना और श्रीकांत

07

भारत का ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में खिताब का इंतजार और बढ़ गया। साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत की क्वार्टर फाइनल में हार के साथ ही टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती खत्म हो गई।साइना को दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइवान की ताई जू यिंग के हाथों मात्र 37 मिनट में 15-21, 19-21 से शिकस्त मिली। साइना की यह ताई के खिलाफ 20 मैचों में लगातार 13वीं और कुल 15वीं हार है। साइना (2013 स्विस ओपन के बाद) छह साल से ताई के खिलाफ जीत नहीं पाई हैं।सातवीं वरीय श्रीकांत को दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जापान के केंतो मोमोता से 21-12,21-16 से हार मिली। यह श्रीकांत की मोमोता के खिलाफ लगातार आठवीं और 14 मुकाबलों में कुल 11वीं हार है। श्रीकांत चार साल से मोमोता के खिलाफ जीत नहीं पाए हैं। आखिरी बार श्रीकांत ने मोमोता को 2015 में इंडिया ओपन में हराया था।

भारत के जूनियर बैडमिंटन खिलाड़ी मैसनाम मीराबाई लुवांग बर्लिन में चल रहे जर्मनी जूनियर टूर्नामेंट में लड़कों के वर्ग में हमवतन इशान भटनागर को 21-6, 21-19 हराकर तीसरे दौर में पहुंच गए।  

साई चरण कोया ने पोलैंड के पैट्रीक कोर्देक को 21-16, 21-16 से हराया। लड़कियों के वर्ग में सामिया इमाद फारूखी ने डेनमार्क की क्लारा लोबेर को 21-10, 21-17 और गायत्री गोपीचंद ने इंग्लैंड की अलेक्सांद्रा ओप्रिसन को 21-14, 21-15 से पराजित किया।

त्रिसा जौली ने जर्मनी की फेडिरिके रूडेर्ट को 21-17, 21-11 से और उत्तर प्रदेश की अमोलिका सिसोदिया ने स्विट्जरलैंड की कैरोलीन राक्लोज को 21-13, 21-8 से हराया। आशि रावत को हालांकि कोरिया की दा जीयोंग चुंग के हाथों 18-21, 12-21 से हार मिली।  बालक वर्ग में किया। युगल स्पर्धा में काव्या गुप्ता और खुशी गुप्ता की जोड़ी ने जीत दर्ज की।