2020 टोक्यो ओलिंपिक से पहले भारतीय खिलाड़ियों को ‘जीवन कौशल’ की ट्रेनिंग

07

भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) की मिशन ओलिंपिक इकाई ने गुरुवार को नई दिल्ली में हुई बैठक में 2020 टोक्यो ओलिंपिक के लिए रूपरेखा पर चर्चा की ताकि भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन ओलिंपिक में सर्वश्रेष्ठ रहे. मिशन ओलिंपिक इकाई ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों के लिए ट्रेनिंग कार्यक्रम में सिर्फ कौशल निखारने का ही काम नहीं किया जाएगा, बल्कि इसमें तनाव और वित्तीय प्रबंधन जैसे ‘जीवन कौशल’ की भी ट्रेनिंग भी दी जाएगी.

साई का कहना है कि जल्द ही लांच होने वाली वर्कशॉप्स (कार्यशालाओं) में ‘जीवन कौशल’ इसका अहम हिस्सा होगा. फैसला किया गया कि टॉप्स समिति वर्कशॉप्स के जरिए खिलाड़ियों को जीवन के इन पहलुओं से संबंधित विषयों पर शिक्षित करेगी. साई ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ी देश के दूत हैं और उनका खेल के मैदान से बाहर आचरण भी काफी अहम है.’

इसके अनुसार, ‘इसमें ध्यान तनाव और मीडिया प्रबंधन से निपटने का कौशल मुहैया कराने पर होगा और साथ ही वे अपने वित्तीय पहलू को कैसे संभाले. इन कार्यशालाओं में खिलाड़ियों के कोच अहम हिस्सा होंगे.’