मैं भी 36 की उम्र में क्रिकेट खेल सकता हूं- श्रीसंत

07

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को एस श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध पर पुनर्विचार का आदेश दिया है। इस पर एस श्रीसंत ने कहा, "42 साल की उम्र में लिएंडर पेस अगर ग्रैंड स्लैम जीत सकते हैं तो मैं 36 साल की उम्र में क्रिकेट क्यों नहीं खेल सकता?"

मुंबई के स्पिनर अंकित छवन, हरियाणा के अजीत चंडीला और श्रीसंत पर बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसके बाद खिलाड़ियों ने कोर्ट में फैसले को चुनौती दी थी।न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने कहा कि बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति श्रीसंत को दी जाने वाली सजा की अवधि पर तीन महीने के अंदर पुनर्विचार कर सकती है।

"6 साल से मैंने क्रिकेट नहीं खेला, जो मेरी जिंदगी है"
सुप्रीम कोर्ट से राहत भरे फैसले के बाद श्रीसंत ने कहा, "मैं नहीं जानता कि इतने वर्षों के बाद जिंदगी में आगे क्या होगा, छह साल बीत चुके हैं और मैंने क्रिकेट नहीं खेला है जो मेरी जिंदगी थी। मैं उम्मीद करता हूं कि बीसीसीआई देश की सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सुनाए गए फैसले का सम्मान कर मुझे क्रिकेट मैदान पर वापसी की अनुमति दे। उम्मीद करता हूं कि कम से कम मैं अब स्कूल के क्रिकेट मैदान पर चल सकता हूं और वहां ट्रेनिंग कर सकता हूं। कोई मुझे यह नहीं कहेगा कि मुझे इसकी अनुमति नहीं है। मैं उतना क्रिकेट खेलना चाहता हूं, जितना खेल सकता हूं।"

फिक्सिंग में फंसे श्रीसंत को SC से राहत, आजीवन बैन हटा

क्रिकेटर एस श्रीसंत पर सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध हटा दिया है. सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि बीसीसीआई के पास अनुशासनात्मक कार्यवाही करने का अधिकार है. कोर्ट ने बीसीसीआई से श्रीसंत को सुनवाई का मौका देने और 3 महीने में सजा तय का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बीसीसीआई श्रीसंथ पर अपने लगाए प्रतिबंध पर फिर से विचार करें. अदालत ने कहा कि तीन महीने में बीसीसीआई फैसला करे. अदालत ने कहा कि बीसीसीआई श्रीसंथ का भी पक्ष सुने. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लाइफटाइम बैन ज्यादा है.

जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने बीसीसीआई से कहा कि वह श्रीसंत को दी गई सजा के बारे में तीन महीने के अंदर ही जल्द फैसला करे. अब श्रीसंत पर बीसीसीआई को तीन महीने के अंदर फैसला सुनाना होगा कि उनके उपर लगे प्रतिबंध को हटाने के बाद उन्हें क्या सजा दी जाएगी. बता दें कि बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आईपीएल-2013 में स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने पर अजीवन प्रतिबंध लगाया था. इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. इससे पहले बीसीसीआई ने कोर्ट में कहा कि श्रीसंत पर भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी और खेल को बेइज्जत करने के आरोप हैं.