बिहार की स्वीटी कुमारी को इंटरनेशनल यंग प्लेयर ऑफ द ईयर

07

पटना. नवादा जिले के बाढ़ की रहने वाली 19 साल की स्वीटी कुमारी ने गरीबी के बावजूद रग्बी खेल कर दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाई है। उन्हें महिला रग्बी की आधिकारिक वेबसाइट स्क्रमक्वींस  'इंटरनेशनल यंग प्लेयर ऑफ द इयर' का अवॉर्ड दिया है। स्वीटी के पिता मजदूर हैं और मां आंगनबाड़ी में काम करती हैं। स्वीटी यह अवार्ड पाने वाली देश की पहली महिला रग्बी खिलाड़ी हैं।दुनिया भर से इस अवॉर्ड के लिए 10 लोगों को नॉमिनेट किया गया था। इसके बाद पब्लिक पोल के आधार पर स्वीटी का नाम चुना गया। इससे पहले उन्हें महाद्वीप की सबसे तेज खिलाड़ी भी घोषित किया जा चुका है।

  • स्वीटी यह अवार्ड हासिल करने वाली देश की पहली महिला रग्बी खिलाड़ी हैं
  • दुनिया भर के 10 लोग नॉमिनेट हुए थे, पब्लिक पोल के आधार पर स्वीटी चुनी गईं
  • 2019 में स्वीटी का प्रदर्शन शानदार रहा, सभी सात टूर्नामेंट में सबसे अधिक स्कोर किया

2019 में स्वीटी ने किया शानदार प्रदर्शन

2019 में स्वीटी का प्रदर्शन काफी शानदार रहा। भारत ने जिन सात टूर्नामेंट में हिस्सा लिया उनमें स्वीटी सबसे अधिक स्कोर करने में सफल रही। स्वीटी ने सिंगापुर के खिलाफ टेस्ट मैच में दो टाई से स्कोर कर भारत को जीत दिलाई। फिलिपिंस के खिलाफ मैच में भी उन्हाेंने बेहतर प्रदर्शन किया। स्वीटी को अमेरिकन रग्बी कोच माइक फ्राइडे भी खेल का गुर सिखा चुके हैं। 

सरकारी स्कूल से एथलीट के तौर पर शुरुआत की थी

स्वीटी ने सरकारी स्कूल से ही एथलेटिक्स के तौर पर शुरुआत की थी और बाद में रग्बी खेलना शुरू किया। उन्होंने अपने स्कूल में 100 मीटर 11.58 सेकंड में पूरा की थी इसके बाद अपनी तेज गति का इस्तेमाल रग्बी खेलने के लिए शुरू किया। स्वीटी के भाई ने भी एथलीट को अपनाया था, लेकिन अधिक मेहनत होने और गरीबी के कारण उसे यह छोड़ना पड़ा।