खेल मंत्री ने दिल्ली को खेलो इंडिया को सफल बनाने की शपथ दिलाई

07

नई दिल्ली, 28 जनवरी | कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क में  हुए एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने दिल्ली को 'खेलो इंडिया स्कूल गेम्स' को सफल बनाने की शपथ दिलाई।इस दौरान सेंट्रल पार्क में भारी तादाद में लोग मौजूद थे। राज्यवर्धन ने ओलम्पिक खेलों में भारत के लिए पहला व्यक्तिगत रजत पदक अपने नाम किया था। उन्होंने एथेंस ओलम्पिक-2004 में भारत को निशानेबाजी में रजत पदक दिलाया था। उन्होंने इस कार्यक्रम के दौरान निशानेबाजी, टेबल टेनिस पर हाथ आजमाए और शतरंज की कुछ चालें चलीं।इस दौरान राठौर ने कहा, खेलो इंडिया का लक्ष्य देश में खेल संस्कृति को बढ़ावा देना है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन है। यह जीतने और हारने से कहीं ज्यादा है। हम हर साल 1000 खिलाड़ियों को खेलो इंडिया कार्यक्रम के माध्यम से जोड़ेंगे और उन्हें अगले आठ साल तक के लिए पांच लाख रुपये की सहायता प्रदान कराएंगे।उन्होंने कहा कि भविष्य में इस कार्यक्रम से जुड़ने वाले खिलाड़ियों की आयु सीमा को कम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेलो इंडिया सिर्फ प्रतिभा खोज कार्यक्रम नहीं है बल्कि प्रतिभा को निखारने का कार्यक्रम भी है।उन्होंने कहा, इस कार्यक्रम के पीछे हमारी मंशा खिलाड़ियों को अभ्यास की सही सुविधाएं और मौके देने की है। खिलाड़ियों की प्रगति तकनीक के माध्यम से मापी जाएगी।खेलो इंडिया को एक खेल आंदोलन बनाने की बात पर जोर देते हुए राठौर ने कहा, हमारा लक्ष्य खेल से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने का है। यह परिवार से ही शुरू होना चाहिए और फिर स्कूल उसके बाद स्थानीय स्तर तक। जब ज्यादा लोग खेलने लगेंगे, हमें ज्यादा प्रतिभा मिलेगी।मंत्री के जाने के बाद भी इस कार्यक्रम में लोगों ने हिस्सा लिया और कई लोगों ने विभिन्न खेलों में अपने हाथ आजमाए।