खेल पुरस्कारों की इनामी राशि में होगी तीन गुना बढ़ोतरी

07

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों की इनामी राशि में मामूली वृद्धि की गई थी, लेकिन मोदी-2 में इन पुरस्कारों को नाम के साथ दाम का बनाने की तैयारी कर ली गई है। खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों की इनामी राशि में भारी भरकम बढ़ोतरी के लिए कमर कस ली है।देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न की पुरस्कार राशि में दस या बीस नहीं बल्कि 70 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जा रही है। यानि कि जिस सर्वोच्च खेल सम्मान के लिए अब तक साढ़े सात लाख रुपये मिलते हैं। अब उसे 25 लाख रुपये किए जाने की तैयारी कर ली गई है। खेल मंत्री किरेन रिजिजू की ओर से जल्द इसकी घोषणा की जाने वाली है।
अर्जुन अवार्ड की तीन गुनी बढ़ेगी राशि
प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड की इनामी राशि को तीन गुना किया जाने वाला है। अब इस अवार्ड के लिए खिलाडिय़ों को पांच लाख रुपये दिए जाते हैं, लेकिन इस राशि को 15 लाख रुपये किए जाने की तैयारी कर ली गई है। खिलाडिय़ों की ओर से यह कहा भी जा रहा था कि राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों की इनामी राशि बेहद कम है। इसे मंत्रालय ने भी समझा और राशि बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार कर डाला।
 
ध्यानचंद, लाइफ टाइम द्रोणाचार्य के लिए मिलेंगे 15 लाख
यही नहीं ध्यानचंद अवॉर्ड और लाइफ टाइम द्रोणाचार्य अवॉर्ड की इनामी राशि में भी इजाफा किया जा रहा है। इन दोनों अवॉर्डों के लिए अब पांच लाख रुपये दिए जाते हैं, लेकिन अब इसके लिए 15 लाख रुपये इनामी राशि की जानी है।नियमित द्रोणाचार्य और लाइफ टाइम द्रोणाचार्य अवॉर्ड की इनामी राशि एक समान होती थी, लेकिन नियमित द्रोणाचार्य अवॉर्ड की इनामी राशि को पांच से 10 लाख किया जा रहा है।