हिन्दू पब्लिक स्कूल में पहली महावीर फोगाट कुश्ती नर्सरी

07

हिसार, इंटरनैशनल रेसलर गीता और बबीता फोगाट के पिता द्रोणाचार्य अवॉर्डी महावीर फोगाट ने कहा है कि उनका राजनीति में जाने का कोई इरादा नहीं है। वह देश में महिला पहलवानी को बढ़ावा देने के लिए काम करेंगे। महिला पहलवानों की फौज तैयार करने के लिए पूरे हरियाणा व देश के अन्य हिस्सों में वह कुश्ती की अनेक नर्सरी स्थापित करेंगे। उनकी राजनीति व अन्य किसी काम में ज्यादा दिलचस्पी नहीं है।

उन्होंने यह बात बुधवार को गांव चौधरीवास के हिन्दू पब्लिक स्कूल में पहली महावीर फोगाट कुश्ती नर्सरी का उद्घाटन करने के मौके पर कही। इस उद्घाटन समारोह में उनके साथ उनकी बेटियां पहलवान गीता फोगाट और बबीता फोगाट भी मौजूद रहीं।

प्रदेश में चल रहे जाट आरक्षण आंदोलन को समर्थन देने के बारे में पूछे जाने पर महावीर फोगाट ने कहा कि वह शांतिपूर्वक तरीके से चल रहे इस आंदोलन का समर्थन करते हैं, जब तक यह आंदोलन शांतिपूर्वक चलता रहेगा वह समर्थन करते रहेंगे। उन्होंने कहा है कि सुविधाओं के अभाव में अब तक वह केवल गीता और बबीता को ही दंगल में आगे बढा पाए थे, लेकिन अब महावीर फोगाट कुश्ती नर्सरियां बनाकर पूरे प्रदेश व देश भर में लड़कियों को गीता-बबीता बनाएंगे। उन्होंने कहा कि जरूरी यह है कि लोग इस खेल के प्रति जागरूक हों और खेल नर्सरी का फायदा उठाएं। उनके साथ आईं बेटियों गीता और बबीता ने कहा कि अपने पिता के नाम से खोली जा रही इस कुश्ती नर्सरी में वह खुद आकर नए पहलवानों का तराशने का काम करेंगी। दंगल फिल्म की कहानी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि फिल्म में जो कहानी दिखाई गई है वह उनकी जिंदगी का 99 प्रतिशत सच है। उन्होंने कहा कि उनके पिता ने उन्हें कामयाब पहलवान बनाने के लिए जो कड़ी मेहनत और अभ्यास कराया, उसके मुकाबले फिल्म में दिखाई गई सख्ती और अभ्यास तो कुछ भी नहीं है।