भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने जीती बाजी

07

ओलंपिक खेलों में 41 साल के पदक के सूखे को खत्म करने की पूरे देश की उम्मीदों पर खरे उतरते हुए भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में अपने ग्रुप स्टेज अभियान में विजयी शुरुआत करते हुए न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में 3-2 से शानदार जीत दर्ज की है। कांटे के इस मुकाबले में भारत ने आक्रामक शुरुआत की। मनदीप सिंह ने नीलकांत शर्मा की सहायता से तीसरे मिनट में भारत के लिए शुरुआती पेनल्टी कॉर्नर प्राप्त किया, हालांकि वह इसे गोल में तब्दील नहीं कर पाए। इस बीच न्यूजीलैंड ने पांचवें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर प्राप्त किया और केन रसेल ने इसे गोल में बदला, लेकिन भारत ज्यादा देर तक पीछे नहीं रहा और रुपिंदर पाल सिंह ने दसवें मिनट में गोल करते हुए भारतीय टीम का खाता खोला, जबकि हरमनप्रीत सिंह ने 26वें और 33वें मिनट में गोल दाग बढ़त में इजाफा किया, लेकिन यह अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश थे, जिन्होंने मैच के अंतिम क्षणों में न्यूजीलैंड को बराबरी करने से रोकने के लिए गोल पोस्ट में उत्कृष्ट काम किया और टीम को बढ़त बनाए रखने में मदद की, जिससे मैच टीम के पक्ष में गया।पहला क्वार्टर में दोनों टीमों के बीच जोरदार टक्कर हुई। न्यूजीलैंड ने भारत के पेनल्टी कॉर्नर डिफेंस को व्यस्त रखा। क्वार्टर के अंत में न्यूजीलैंड को चार पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने शानदार डिफेंस से न्यूजीलैंड को स्कोर करने से रोका।