कोच-कप्तान में कड़वाहट

07

भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड, यानी बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी तथा महाप्रबंधक (क्रिकेट) एमवी श्रीधर ने गुरुवार को टीम इंडिया के सदस्यों के साथ बैठक की है, हालांकि बैठक के नतीजे के बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिल पाई है. सूत्रों का कहना है कि बैठक का उद्देश्य कोच अनिल कुंबले के बारे में कुछ खिलाड़ियों के साथ चर्चा करना और यह जानना था कि कहीं कोई नाराज़गी या दिक्कतें तो नहीं हैं. हालांकि अमिताभ चौधरी ने कप्तान विराट कोहली तथा कोच अनिल कुंबले के बीच किसी भी 'दरार' की संभावना से साफ इंकार किया है, लेकिन बोर्ड ने इस मामले को सुलझाने के लिए तीन सदस्यों की टीम इंग्लैंड भेज रखी है.जिस वक्त से भारतीय टीम आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी खेलने के लिए इंग्लैंड पहुंची है, कुंबले और कोहली के बीच तल्ख रिश्तों को लेकर चल रहा विवाद सुर्खियों में छाया हुआ है.4 जून को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ खेलने जा रही टीम इंडिया के प्रशंसक चाहते हैं कि टीम का ध्यान पूरी तरह मैच की ओर हो, लेकिन 'बैंगलोर मिरर' ने लिखा है कि बांग्लादेश के खिलाफ वॉर्म-अप मैच के बाद विराट कोहली तथा अनिल कुंबले के बीच कोई गर्मजोशी नहीं दिखी.यही नहीं, इसके अलावा जिस समय कुछ साजो-सामान के साथ कोच प्रैक्टिस नेट में पहुंचे, भारतीय कप्तान नेट छोड़कर चले गए.गौरतलब है कि बीसीसीआई ने कुछ वक्त पहले प्रेस विज्ञप्ति दारी कर टीम इंडिया के प्रमुख कोच पद के लिए आवेदन मंगवाए थे, जिसके लिए डेडलाइन बुधवार को खत्म हो चुकी है.सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासक समिति (सीओए) इस बात के लिए प्रयासरत है कि कोहली तथा कुंबले के बीच रिश्ते सामान्य हो जाएं, लेकिन मतभेद इतने गहरा चुके हैं कि उनका एक साथ आना 'लगभग नामुमकिन' है. इंग्लैंड में मौजूद तीन अधिकारियों में सीओए प्रमुख विनोद राय तथा एमवी श्रीधर शामिल हैं.