जापानी तलवारबाज पैसों के लिए फूड डिलिवरी बॉय बने

07

कोरोनावायरस के कारण इंटरनेशनल ओलिंपिक संघ (आईओसी) ने टोक्यो गेम्स को एक साल के लिए टाल दिया है। दुनिया की एक तिहाई आबादी लॉकडाउन है। इस वजह से स्पोर्ट्स सेंटर और ज्यादातर देशों में प्रैक्टिस बंद हैं। ऐसे में जापानी तलवारबाज रेयो मियाकी फिटनेस और पैसों के लिए फूड डिलिवरी बॉय बन गए हैं। वे लंदन ओलिंपिक 2012 के टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीत चुके हैं।

मियाकी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि तलवारबाजी का अभ्यास बगैर पाटर्नर के संभव नहीं है। इन दिनों जिम भी बंद है। ऐसे में फिटनेस के लिए उन्होंने फूड डिलिवरी बॉय की नौकरी कर ली। वे साइकिल से ही रेस्टोरेंट से फूड लेकर लोगों के घर तक पहुंचा जा रहे हैं। इस काम से मियाकी फिट भी रहते हैं।

नौकरी आसानी से मिल रही है
तलवारबाज ने कहा, ‘‘साइकिल चलाने से शरीर में लचीलापन भी बना रहता है। साथ ही कमाई भी हो जाती है। लॉकडाउन खुलने के बाद यदि टोक्यो ओलिंपिक होता है, तो यात्रा के लिए काफी रुपयों की जरूरत होगी, इसलिए पैसे भी जोड़ रहा हूं। इन दिनों फूड डिलिवरी बॉय की डिमांड ज्यादा है। ऐसे में नौकरी आसानी से मिल जाती है। मैं इस जॉब को पूरी तरह से एंजॉय कर रहा हूं।’’

मियाकी ने कहा, ‘‘कंपनी की फूड पॉलिसी के तहत खाना घर के दरवाजे के बाहर रखना होता है। ऐसे में कोरोना के संक्रमण का खतरा कम होता है। हालांकि फूड लेने के लिए रेस्टोरेंट जाना पड़ता है। उस दौरान ही वह रेस्टोरेंट स्टाफ के संपर्क में आते हैं।’’ मियाकी ने इन दिनों अपने स्पॉन्सर से पैसे रोकने के लिए कहा है। वे फूड कंपनी से जीवन यापन करने लायक कमाई करने में सक्षम हैं।

ओलिंपिक को लेकर सस्पेंस अब भी बरकरार
मियाकी ने कहा, ‘‘वर्तमान स्थिति में तलवारबाजी संभव नहीं है, क्योंकि यह बिना पाटर्नर के नहीं हो सकती। कोरोना के कारण टोक्यो ओलिंपिक एक साल टल गया, जो अब 2021 में होगा। वहीं तलवारबाजी के कई टूर्नामेंट रद्द हो गए हैं। यह कब होगा, किसी को भी पता नहीं है। क्वालिफाइंग को लेकर फेडरेशन के क्या नियम होंगे, मुझे कुछ नहीं पता है।’’