भारत जूनियर निशानेबाजी विश्व कप में चौथे स्थान पर

07

नयी दिल्ली : भारतीय निशानेबाजों ने जर्मनी में आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप में तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य पदक जीतकर अपने अभियान का अंत चौथे स्थान पर किया. इस 29 अप्रैल से पांच मई तक चले टूर्नामेंट में 48 देशों के कुल 585 जूनियर निशानेबाजों ने शिरकत की लेकिन केवल 24 देश ही पदक तालिका तक पहुंच सके, जिसमें इटली सात स्वर्ण, चार रजत और एक कांस्य पदक से शीर्ष पर रहा. 

रुस पांच स्वर्ण, छह रजत और नौ कांस्य पदक से दूसरे जबकि जर्मनी ने पांच स्वर्ण, तीन रजत और तीन कांस्य पदक से तीसरे स्थान पर रहा. भारत के लिये रितुराज सिंह सबसे सफल निशानेबाज रहे जिन्होंने पुरुषों की 25 मी स्टैंडर्ड पिस्टल की व्यक्तिगत और टीम स्पर्धा दोनों में दो स्वर्ण पदक जीते. शिवम शुक्ला ने भी पिस्टल स्पर्धा में प्रभावशाली प्रदर्शन किया, उन्होंने एक स्वर्ण और एक रजत पदक जीता. उन्होंने व्यक्तिगत 25 मी रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल्स में भी जगह बना ली लेकिन पदक जीतने में असफल रहे. 

अर्जुन दास ने टीम इंडिया के लिये स्वर्ण और कांस्य पदक जीता. जूनियर महिलाओं में यशस्वनी सिंह देसवाल दो रजत पदक से सबसे ज्यादा प्रभावशाली रहीं, उन्होंने 10 मी एयर पिस्टल स्पर्धा के व्यक्तिगत और टीम वर्ग में दूसरा स्थान हासिल किया. वह पिछले दो वर्षों से विश्व स्पर्धाओं में सबसे निरंतर निशानेबाज रही हैं. आईएसएसएफ टूर्नामेंट अब जर्मनी के म्यूनिख में होगा जहां सीनियर विश्व कप का चौथा चरण 19 मई से शुरू होगा.