IPL 2018, फाइनल: चेन्नई सुपरकिंग्स ने तीसरी बार जीता खिताब

07

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2018 के फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से हराकर तीसरी बार खिताब पर कब्ज़ा किया। सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 178/6 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में चेन्नई सुपरकिंग्स ने सिर्फ दो विकेट खोकर 19वें ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया। शेन वॉटसन को उनके धुआंधार शतकीय पारी के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया, वहीं केकेआर के सुनील नारेन (357 रन एवं 17 विकेट) को मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट चुना गया।

चेन्नई सुपरकिंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया और दोनों टीमों में बदलाव हुए। चेन्नई सुपरकिंग्स ने हरभजन सिंह की जगह कर्ण शर्मा को टीम में शामिल किया, वहीं सनराइजर्स हैदराबाद ने ऋद्धिमान साहा की श्रीवत्स गोस्वामी और खलील अहमद की जगह संदीप शर्मा को मौका दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद की शुरुआत खराब रही और श्रीवत्स गोस्वामी दूसरे ही ओवर में सिर्फ 5 रन बनाकर रन आउट हो गए। इसके बाद कप्तान केन विलियमसन (47) ने शिखर धवन (26) के साथ दूसरे विकेट के लिए 51 रन जोड़े, लेकिन नौवें ओवर में धवन आउट हो गए। केन विलियमसन ने शाकिब अल हसन (23) के साथ मिलकर टीम को 12वें ओवर में 100 के पार पहुंचाया, लेकिन 13वें ओवर में विलियमसन के आउट होने से एसआरएच को बड़ा झटका लगा। 16वें ओवर में शाकिब और 17वें ओवर में दीपक हूडा (3) भी आउट हुए, लेकिन एक छोर पर युसूफ पठान ने धुआंधार बल्लेबाजी जारी रखी और 25 गेंदों में नाबाद 45 रन बनाये। उनके साथ कार्लोस ब्रैथवेट (11 गेंद 21) ने भी तेज़ पारी खेली और टीम को 178 के स्कोर तक पहुंचा दिया। दोनों बल्लेबाजों ने अंतिम तीन ओवरों में 34 रन जोड़े।

चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से लुंगी एनगीडी, कर्ण शर्मा, शार्दुल ठाकुर, ड्वेन ब्रावो और रविन्द्र जडेजा ने एक-एक विकेट लिया।

लक्ष्य के जवाब में चेन्नई सुपरकिंग्स की शुरुआत बेहद धीमी रही और पहला ही ओवर भुवनेश्वर कुमार ने मेडेन फेंका। चार ओवर में स्कोर सिर्फ 16 था और फाफ डू प्लेसी (10) आउट हो चुके थे। पावरप्ले में स्कोर 35/1 था, लेकिन उसके बाद शेन वॉटसन ने सुरेश रैना के साथ मिलकर स्कोर को तेज़ी दी और 10 ओवर में स्कोर 80/1 हो गया था। आखिरी 10 ओवर में जीत के लिए 99 रनों की जरूरत थी। 

पहले 10 गेंदों में खाता नहीं खोलने वाले शेन वॉटसन ने धमाकेदार बल्लेबाजी की और 51 गेंदों में उन्होंने न सिर्फ अपना शतक पूरा किया, बल्कि सनराइजर्स हैदराबाद को मैच से पूरी तरह बाहर कर दिया। उन्होंने सुरेश रैना (32) के साथ दूसरे विकेट के लिए धुआंधार 117 रन जोड़े।

वॉटसन ने 57 गेंदों में 8 छक्कों और 11 चौकों की मदद से 117 रनों की नाबाद पारी खेली और अम्बाती रायडू (16*) के साथ मिलकर टीम को 19वें ओवर में 9 गेंद शेष रहते जीत दिला दी।

शेन वॉटसन ने इस आईपीएल में अपना दूसरा शतक लगाया और यह आईपीएल फाइनल में लक्ष्य का पीछा करते हुए किसी भी बल्लेबाज का पहला शतक है।

सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान के अलावा सभी गेंदबाज बेहद महंगे साबित हुए और यही उनके हार का प्रमुख कारण बना। संदीप शर्मा और कार्लोस ब्रैथवेट को एक-एक सफलता हाथ लगी।

संक्षिप्त स्कोरकार्ड:


सनराइजर्स हैदराबाद:
 178/6 (केन विलियमसन 47, युसूफ पठान 45*)

चेन्नई सुपरकिंग्स:
 181/2 (शेन वॉटसन 117*, सुरेश रैना 32)