टूर्नामेंट खेलने पाकिस्तान पहुंच गई भारतीय कबड्डी टीम, मुश्किल में खिलाड़ी

07

नई दिल्ली. विश्व कबड्डी चैंपियनशिप (सर्किल स्टाइल) के लिए भारतीय टीम के पाकिस्तान (Pakistan) पहुंचने से विवाद खड़ा हो गया है क्योंकि खेल मंत्री और राष्ट्रीय महासंघ ने दावा किया कि उन्होंने किसी भी एथलीट को पड़ोसी देश में भाग लेने की मंजूरी नहीं दी है. चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए भारतीय दल (Indian Team) शनिवार को वाघा बॉर्डर के जरिए लाहौर पहुंचा, जिसका आयोजन पहली बार पाकिस्तान में किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर भारतीय दल के लाहौर पहुंचने की फोटो और वीडियो वायरल हो रहे हैं. टूर्नामेंट सोमवार से लाहौर के पंजाब फुटबॉल स्टेडियम में शुरू होगा. कुछ मैच फैसलाबाद और गुजरात में खेले जाएंगे.

सरकार ने नहीं दी किसी को अनुमति
खेल मंत्रालय के सूत्र ने कहा कि सरकार ने किसी भी एथलीट को टूर्नामेंट के लिए पाकिस्तान जाने की अनुमति नहीं दी है. खेल मंत्रालय के सूत्र ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि खेल मंत्रालय और विदेश मंत्रालय ने किसी भी टीम को अनुमति प्रदान नहीं की है जो किसी भी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व के लिए अनिवार्य होती है.भारतीय एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई) के प्रशासक न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) एसपी गर्ग ने भी कहा कि राष्ट्रीय संस्था ने किसी भी टीम को मंजूरी नहीं दी है. उन्होंने कहा कि हमें पाकिस्तान जाने वाली किसी कबड्डी टीम के बारे में कोई सूचना नहीं है. एकेएफआई द्वारा किसी टीम को पाकिस्तान जाने और वहां कबड्डी मैच खेलने की कोई मंजूरी नहीं दी गई. सूत्र ने कहा कि हमें तभी पता चला जब इस बारे में सूचना मांगी गई. एकेएफआई इस तरह की गतिविधि का समर्थन नहीं करता. ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए.

विदेशी प्रतियोगिताओं में भागीदारी की प्रक्रिया में राष्ट्रीय महासंघ खेल मंत्रालय (Sports Ministry) को सूचना देता है जो राजनीतिक मंजूरी के लिए विदेश मंत्रालय और सुरक्षा मंजूरी के लिए गृह मंत्रालय को लिखता है, भले ही सरकार इस दल का खर्चा उठा रही हो या नहीं. वहीं पाकिस्तान पंजाब के खेल मंत्री राय तैमूर खान भट्टी ने लाहौर के होटल में भारतीय दल का स्वागत किया.पाकिस्तान कबड्डी महासंघ के अधिकारियों ने पाकिस्तान पहुंचने के बाद भारतीय खिलाड़ियों का फूलमाला पहनाकर स्वागत किया जिसके बाद उन्हें सुरक्षा घेरे में लाहौर में होटल पहुंचाया गया. विश्व कबड्डी चैंपियनशिप के पिछले छह चरण 2010 से 2016 तक भारत में आयोजित हुए थे. भारत ने सभी छह चैंपियनशिप जीती थी जिसमें उसने 2010, 2012, 2013 और 2014 में पाकिस्तान को हराया था. विजेता टीम को एक करोड़ रुपये, जबकि उप विजेता टीम को 75 लाख रुपये की राशि मिलेगी.