इन 5 कारणों से केपटाउन में हारी टीम इंडिया

07

नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच केपटाउन में खेले जा रहे पहले टेस्ट के चौथे दिन टीम इंडिया विदेशी मैदान पर अग्नि परीक्षा में एक बार फिर नाकाम रही और 72 रनों से हार का सामना करना पड़ा। गेंदबाजों ने टीम के लिए जीत के दरवाजे खोल दिए, लेकिन बल्लेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन के कारण टीम इंडिया को न्यूलैंड्स के मैदान पर खेले गए सीरीज के इस मैच में हार का सामना करना पड़ा है। भारत की सरजमीं पर रनों के अंबार लगाने वाले टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने घर के बाहर अपने निराशाजनक प्रदर्शन से क्रिकेट प्रेमियों को गमगीन कर दिया। आइए एक नजर डालते हैं केपटाउन टेस्ट में मिली हार के कारणों पर:

1. बीसीसीआई की खराब शेड्यूलिंग
वैसे ये काॅफी चौंकाने वाली बात है कि सबसे मुश्किल दौरे के लिए बीसीसीआई ने टीम इंडिया के लिए ऐसा कार्यक्रम निर्धारित किया, जिससे वो एक तीन दिनी प्रैक्टिस मैच तक नहीं खेल सकी। इससे भारतीय खिलाड़ी पिच और परिस्थिति के अभ्यस्त नहीं हो पाए और नतीजा सबके सामने है। 2010-11 में भारत ने द. अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन किया था, क्योंकि उस वक्त भारतीय टेस्ट टीम के प्रमुख बल्लेबाज 10 दिन पहले वहां पहुंच गए थे और उन्होंने गैरी कर्स्टन अकादमी में अभ्यास किया था।

 2.दो दिनी प्रैक्टिस मैच रद्द करना पड़ा भारी
क्रिकेट में कहा जाता है कि एक प्रैक्टिस मैच कई नेट अभ्यास सेशन के बराबर होता है। टीम इंडिया को मेजबान लोकल टीम के साथ एक दो दिनी प्रैक्टिस मैच खेलना था, लेकिन टीम के अनुरोध पर बीसीसीआई ने यह मैच भी रद्द करवा दिया। दरअसल विराट एंड कंपनी ने नेट अभ्यास को ज्यादा तरजीह दी। लेकिन इसका कोई फायदा दिखता नहीं मिला।

3.टीम सिलेक्शन
टीम इंडिया के लिए टेस्ट मैचों में बतौर उप-कप्तान नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने वाले अजिंक्य रहाणे को कप्तान कोहली और टीम मैनेजमेंट ने ड्रॉप करके रोहित शर्मा को उनकी जगह शामिल किया। रहाणे का विदेशी धरती पर रिकॉर्ड किसी से छिपा नहीं है। गेंदबाजों के अनुकूल हालात में रहाणे की तकनीक बेहद शानदार हैं और निश्चित रूप से इस मैच में टीम इंडिया को रहाणे की कमी खली है।

4.टॉप आर्डर फ्लॉप
केपटाउन टेस्ट की दोनों पारियों में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन खराब रहा है। ओपनर के तौर पर शिखर धवन और मुरली विजय, टीम को बेहतर शुरुआत देने में नाकाम रहे हैं। इसके अलावा चेतेश्वर पुजारा और कप्तान विराट कोहली का फ्लॉप शो टीम की हार का कारण बना। 

5.खराब फील्डिंग
पहली पारी में साउथ अफ्रीका का स्कोर एक समय 202 पर 6 विकेट था। लेकिन, क्रीज पर आए नए बल्लेबाज केशव महाराज का कैच छोड़ना टीम इंडिया के लिए महंगा साबित हुआ। शिखर धवन ने स्लिप में आसान सा कैच टपका दिया। इसके बाद केशव ने आक्रामक रुख अपनाते हुए 35 रन ठोक दिए, जो साउथ अफ्रीका के लिए अहम साबित हुए और उसका स्कोर 286 रन तक जा पहुंचा।