हॉकी ; भारत ने पाकिस्तान को 7-1 से हराया

07

लंदन : भारत -पाक क्रिकेट मुकाबले को लेकर बनी हाइप के बीच अपने फारवर्ड खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की मदद से भारत ने रविवार को एफआईएच विश्व हाकी लीग सेमीफाइनल में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को रिकार्ड 7 - 1 से पटखनी देकर पूल बी में शीर्ष स्थान बरकरार रखा।लंदन में ही चैम्पियंस ट्राफी सेमीफाइनल में भारत-पाकिस्तान मुकाबले के अलावा हाकी में भी दो एशियाई शेरों की इस टक्कर पर सभी की नजरें थी। इसमें भारत ने अनुभवहीन पाकिस्तानी टीम को हर विभाग में बौना साबित कर दिया। इस हार के साथ ही पाकिस्तान की विश्व कप में जगह बनाने की उम्मीदों पर लगभग पानी फिर गया चूंकि टूर्नामेंट में यह उसकी लगातार तीसरी हार रही।

भारत के लिये हरमनप्रीत सिंह (13वां और 33वां मिनट), तलविंदर सिंह (21वां और 24वां मिनट), आकाशदीप सिंह (47वां और 59वां) और प्रदीप मोर (49वां) ने गोल किये जबकि पाकिस्तान के लिये एकमात्र गोल उमर भुट्टा ने 57वें मिनट में दागा जो टूर्नामेंट में टीम का पहला गोल था।

इस जीत से भारत ने क्वार्टर फाइनल में मेजबान इंग्लैंड और ओलंपिक चैम्पियन अर्जेंटीना से भी टक्कर टाल दी। पहले क्वार्टर में खेल बराबरी का रहा और दोनों टीमें गेंद पर नियंत्रण में बराबर रही। भारत ने हालांकि दूसरे क्वार्टर में अपने तेवर दिखाते हुए दो गोल दाग दिये। भारत का खाता ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह ने टीम को 13वें मिनट में मिले तीसरे पेनल्टी कार्नर पर खोला। हरमनप्रीत सटीक फ्लिक नहीं लगा सके लेकिन पाकिस्तानी गोलकीपर अमजद अली को चकमा देने के लिये यह काफी थी।

तलविंदर ने भारत की बढ़त दुगुनी की

दूसरे क्वार्टर की शुरुआत में पाकिस्तान को पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन बिलाल इस पर गोल नहीं कर सके। भारत ने जवाबी हमले में अगले ही मिनट गोल बनाया लेकिन हरमनप्रीत के शाट को अमजद ने दाहिने ओर डाइव लगाकर रोक दिया। तलविंदर ने भारत की बढ़त दुगुनी की जब एस वी सुनील से मिले पास को उन्होंने गोल में बदला। इस बीच मनदीप सिंह को ग्रीनकार्ड मिलने के कारण भारत को कुछ समय 10 खिलाड़ियों के साथ ही खेलना पड़ा।

भारत के लिये तीसरा गोल भी तलविंदर ने किया हालांकि यह गोल अनुभवी मिडफील्डर सरदार सिंह के प्रयास का नतीजा था और आखिर में इसे गोल के भीतर तलविदंर ने डिफ्लैक्ट किया। सरदार ने डी के भीतर मिली गेंद पर पहले खुद शाट लेने का सोचा लेकिन फिर तलविंदर को पास दिया जिसने गोल करने में कोई चूक नहीं की। ब्रेक के समय भारत को 3-0 की बढ़त हासिल थी। ब्रेक के बाद भी भारत के आक्रामक तेवर जारी रहे और इसका फल तीसरे क्वार्टर में पेनल्टी कार्नर के रूप में मिला। हरमनप्रीत ने मैच में दूसरा गोल करके भारत की बढत 4 .0 की कर दी। पाकिस्तान को जवाबी आक्रमण में पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन विकास दहिया ने बेहतरीन मुस्तैदी का प्रदर्शन करते हुए गोल बचाया।भारत के लिये पांचवां गोल आकाशदीप ने 47वें मिनट में दागा जो पहले दोनों मैचों में गोल कर चुके हैं। इसके दो मिनट बाद प्रदीप मोर ने बढत 6.0 की कर दी।

आकाशदीप ने हूटर से एक मिनट पहले गोल करके भारत को 7.1 से जीत दिलाई

 इस बीच आखिरी सीटी बजने से तीन मिनट पहले पाकिस्तान के लिये उमर भुट्टा ने एकमात्र गोल दागा। पाकिस्तान को मिले पेनल्टी कार्नर पर बिलाल का शाट भारत ने बचा लिया लेकिन रिबाउंड पर भुट्टा ने गोल किया। आकाशदीप ने हूटर से एक मिनट पहले गोल करके भारत को 7.1 से जीत दिलाई। भारत मंगलवार को आखिरी पूल मैच में नीदरलैंड से खेलेगा जिससे पूल बी की शीर्ष टीम का निर्धारण होगा। पाकिस्तान को नाकआउट चरण में प्रवेश के तकनीकी समीकरण बनाये रखने के लिये स्काटलैंड को हर हालत में हराना होगा।