मारपीट करने वाले 11 खिलाड़ियों हॉकी इंडिया ने किया बैन

07

नई दिल्ली| हॉकी इंडिया (एचआई) की अनुशासन समिति ने पिछले महीने 56वें नेहरू सीनियर हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में पंजाब पुलिस और पंजाब नेशनल बैंक के बीच खेले गए फाइनल मुकाबले में हुई हाथापाई के कारण 11 खिलाड़ियों को निलंबित कर दिया है। साथ ही टीम के अधिकारियों को भी निलंबित किया गया है। यह लड़ाई पंजाब पुलिस के हरदीप सिंह और पंजाब नेशनल बैंक के सुमित टोप्पो के बीच हुई थी जिसमें बाद में कई और खिलाड़ी भी आ गए थे।

एचआई ने मंगलवार को एक बयान में कहा, "समिति ने पंजाब आर्म्ड पुलिस के हरदीप सिंह और जसकरन सिंह को 18 महीनों के लिए निलंबित कर दिया है जबकि दुपिंदरदीप सिंह, जगमीत सिंह, सुखप्रीत सिंह, सरवनजीत सिंह और बलविंदर सिंह को 12 महीनों के लिए निलंबित किया है। इन सभी को एचआई की आचार संहिता के लेवल-3 के उल्लंघन के लिए निलंबित किया गया है। इन सभी का निलंबन 11 दिसंबर से तत्काल प्रभाव से लागू होगा।"

बयान के मुताबिक, "पंजाब पुलिस के मैनेजर अमित संधू को भी लेवल-3 के उल्लंघन के चलते 18 महीनों के लिए निलंबित किया गया है। साथ ही पंजाब पुलिस की टीम को तीन महीनों के लिए निलंबित करने और किसी भी अखिल भारतीय टूर्नामेंट में हिस्सा न लेने देने की सिफारिश की गई है जिसकी समय सीमा 10 मार्च 2020 से नौ जून 2020 के बीच की होगी।"

बयान में कहा गया है, "पंजाब नेशनल बैंक के सुखजीत सिंह, गुरसिमरन सिंह और सुमित को 12 महीनों के लिए निलंबित किया गया है। टीम के कप्तान जसबीर सिंह को छह महीनों के लिए निलंबित किया गया है क्योंकि टीम मैदान पर जो भी करती है, उसकी जिम्मेदारी कप्तानी की होती है।"

बयान में कहा गया है, "पंजाब नेशनल बैंक के मैनेजर सुशील कुमार दुबे को छह महीनों के लिए निलंबित किया गया है क्योंकि उनकी टीम एचआई के नियमों का पालन नहीं कर पाई।"

साथ ही समिति ने पंजाब नेशनल बैंक को तीन महीनों के लिए निलंबित करने की सिफारिश की है जिसकी समय सीमा 11 दिसंबर 2019 से लेकर 10 मार्च 2020 होगी।