वर्ल्ड लीग फाइनल के लिए भारतीय पुरुष हॉकी टीम घोषित

07

नई दिल्ली हॉकी इंडिया (HI) ने भुवनेश्वर में खेले जाने वाले ओडिशा हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल के लिए 18 सदस्यीय पुरुष टीम की घोषणा कर दी है। 1 दिसंबर से भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले जाने वाले इस टूर्नमेंट के लिए भारत को ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और जर्मनी के साथ पूल-बी में शामिल किया गया है। मनप्रीत (25) की कप्तानी में भारतीय टीम अपने अभियान का आगाज ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले पहले मुकाबले से करेगी। 

टीम के मुख्य कोच शुअर्ड मरेन ने कहा, 'टीम में रुपिंदर पाल जैसे अनुभवी खिलाड़ी का होना अच्छी बात है। इसके साथ ही हमारे पास बीरेंद्र लाकड़ा भी हैं। दोनों ही खिलाड़ी 100 प्रतिशत फिट हैं और भारतीय जर्सी को पहन मैदान पर उतरने के लिए आतुर भी।' इस टीम में जूनियर वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ियों हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार और दिपसान तिर्के को शामिल किया गया है। इसके अलावा अमित रोहिदास को भी टीम में जगह मिली है। उन्हें कोथाजीत सिंह के स्थान पर शामिल किया गया है।


भारतीय टीम: गोलकीपर- आकाश, अनिल चिकते, सूरज कारकेरा 
डिफेंडर- हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, दिपसान तिर्के, वरुण कुमार, रपिंदर पाल सिंह, बीरेंद्र लाकड़ा 
मिडफील्डर- मनप्रीत सिंह (कप्तान), चिंग्लेसाना सिंह (उप-कप्तान), एसके उथप्पा, सुमित, कोथाजीत सिंह 
फॉरवर्ड- एसवी सुनील, आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, गुरजंत सिंह 

सरदार सिंह बाहर...

पिछले कुछ समय से टीम के साथ प्रयोगों और कुछ खिलाड़ियों को आराम दिए जाने का दौर आखिर खत्म हुआ है. इसके साथ ही, दुनिया के महान खिलाड़ियों में शुमार किए जाने वाले पूर्व भारतीय कप्तान सरदार सिंह को लेकर भी बड़ा फैसला किया गया है. सरदार को भुवनेश्वर में होने वाले हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल के लिए 18 सदस्यीय टीम में जगह नहीं मिली है. इसके साथ अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या इस बेहतरीन मिडफील्डर का करियर खत्म हो गया है?

भुवनेश्वर में होने वाले हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल के लिए 18 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी गई है. इसमें ड्रैग फ्लिकर रूपिंदरपाल सिंह की टीम में वापसी हुई है. लेकिन बड़ी खबर सरदार को जगह नहीं मिलना है. पिछले दिनों हुए एशिया कप में सरदार टीम का हिस्सा थे. टूर्नामेंट ढाका में हुआ था. वहां भी इस तरह की बातें की जा रही थीं कि क्या यह सरदार सिंह का आखिरी टूर्नामेंट है? सरदार को उस टूर्नामेंट में प्लेमेकर के रोल में नहीं खिलाया गया था, जहां वो लगातार खेलते रहे हैं.

सरदार ने करियर फॉरवर्ड के रूप में शुरू किया था. लेकिन  उसके बाद वो धीरे-धीरे मिड फील्डर के रोल में निभ गए. उन्हें यहां प्लेमेकर का रोल दिया गया. धनराज पिल्लै अपने करियर के आखिरी दौर में प्लेमेकर का रोल ही निभाते थे. लेकिन एशिया कप में यह जगह मनप्रीत को मिली. 31 साल के सरदार को एशिया कप के दौरान डिफेंस और मिडफील्ड के बीच फ्री मैन के रोल में खिलाया गया. लेकिन यहां भी उनकी रफ्तार को लेकर सवाल उठते रहे. सवाल यही है कि क्या सरदार वर्ल्ड कप के लिए वापसी कर पाएंगे? क्या टीम का थिंक टैंक अब भी उनके लिए कोई जगह मानता है? क्या टूर्नामेंट के बाद उनके रोल पर चर्चा की जाएगी? इन बहुत से सवालों के साथ वर्ल्ड लीग खेला जाएगा.

भारत को इस टूर्नामेंट के लिए ग्रुप बी में रखा गया है, जहां उसके साथ ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और जर्मनी की टीमें हैं. भारत को पहला मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना है. टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम की कमान 25 साल के मनप्रीत सिंह को सौंपी गई है. उप कप्तान चिंग्लेनसाना सिंह होंगे. चोटिल पीआर श्रीजेश की वापसी नहीं हुई है. इसलिए गोलकीपिंग की जिम्मेदारी आकाश चिकते और सूरज करकेरा के कंधों पर होगी.

मिडफील्ड में एसके उथप्पा, कोथाजीत सिंह और सुमित का साथ मनप्रीत और चिंग्लेनसाना को मिलेगा. बैकलाइन अनुभवी ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह और ओडिशा के बिरेंद्र लाकड़ा के आने से मजबूत हुई है. हॉकी इंडिया की तरफ से जारी मीडिया रिलीज में टीम के चीफ कोच 43 साल के श्योर्ड मरीन्ये ने कहा, ‘रूपिंदर और बिरेंद्र के आने से टीम में अनुभव बढ़ेगा. दोनों सौ फीसदी फिट हैं.’

जूनियर वर्ल्ड कप के स्टार हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार और डिप्सान टिर्की को भी टीम में जगह मिली है. अमित रोहिदास की भीवापसी हुई है. मरीन्ये ने कहा, ‘अमित को कोथाजीत के रिप्लेसमेंट के तौर पर बुलाया गया है. कोथाजीत की हैमस्ट्रिंग में चोट है.’ उन्होंने यह भी जोड़ा कि ड्रैग फ्लिक के लिए अब रूपिंदर, हरमनप्रीत, वरुण, अमित और डिप्सान के तौर पर विकल्प हैं. मरीन्ये ने कहा, ‘डिफेंस में ऐसे पांच लोग हैं, जो ड्रैग कर सकते हैं. यह टीम के लिए बहुत अच्छा है.’

फॉरवर्डनलाइन में एसवी सुनील के साथ आकाशदीप सिंह, गुरजंत सिंह, ललित उपाध्याय और मनदीप सिंह हैं.