66 पदकों में से एक तिहाई हरियाणा के खिलाडिय़ों ने दिलाए

07

नई दिल्ली : राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों को राज्य सरकार ने डेढ़ करोड़ रूपये पुरस्कार राशि देने की आज यहां घोषणा की। हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज ने यह घोषणा करते हुए राज्य के 22 पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी जिसमें नौ स्वर्ण, छह रजत और सात कांस्य पदक विजेता है।रजत पदक विजेताओं को 75 लाख रुपये और कांस्य पदक विजेताओं को 50 लाख रूपये का ईनाम दिया जाएगा। निशानेबाजी में भारत के नयी सनसनी अनीश भानवाल (15) और मनु भाकर (16) भी हरियाणा से आते है।विज ने कहा, ‘‘यह बड़ी उपलब्धि है , उन्होंने देश और राज्य को गौरवान्वित किया है। राष्ट्रमंडल खेलों में हरियाणा के 38 खिलाड़ियों ने देश का प्रतिनिधित्व किया था। विज ने कहा, ‘‘राज्य सरकार हर स्वर्ण पदक विजेता को श्रेणी ए, रजत पदक विजेता को श्रेणी बी और कांस्य पदक विजेता को श्रेणी सी वर्ग में नौकरी देगी।

आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में समाप्‍त हुए राष्ट्रमंडल खेलों में हरियाणा के खिलाडियों ने शानदार प्रदर्शन किया। 4 अप्रैल को शुरू हुई इस खेल प्रतियोगिता के अंत तक हरियाणा के खिलाडिय़ों का जलवा रहा। भारत ने राष्ट्रमंडल खेलों में कुल 66 पदक जीते हैं। इनमें एक तिहाई यानी 22 पदक अकेले हरियाणा के खिलाडिय़ों ने जीते। हरियाणा के खिलाडियों ने देश को नौ स्‍वर्ण पदक दिलाए। इनमें दो बेटियां मनु भाकर और विनेश फौगाट शामिल हैं।इसे राज्य की नई खेल नीति का प्रोत्साहन माने या फिर खिलाडिय़ों की कड़ी मेहनत, खेल के मैदान में हरियाणा के झंडे गाड़ दिए हैं। पूरे देश में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे के साथ उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले हरियाणा ने खेल के क्षेत्र में पूरे देश में नंबर-वन की स्थिति बना ली है। हरियाणा के खिलाडिय़ों द्वारा जीते गए कुल 22 पदकों में नौ स्वर्ण, सात रजत और छह कांस्य पदक हैं। इनमें से दो स्वर्ण सहित सात पदक महिला खिलाडिय़ों ने हासिल किए हैं। राज्य सरकार खिलाडिय़ों की इस उपलब्धि को राज्य की नई खेल नीति-2015 की देन मान रही है।

हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज का कहना है कि हरियाणा सरकार की नई खेल नीति-2015 का यह परिणाम है कि राष्ट्रमंडल खेलों में प्रदेश के खिलाडिय़ों ने जबरदस्त उपलब्धि हासिल की है। गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में हरियाणा के 38 खिलाडिय़ों ने हिस्सा लिया और जिनमें से 22 ने पदक जीते। पूरा हरियाणा इनकी उपलब्धियों से गौरवान्वित हुआ है।

उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार की ओर से स्वर्ण पदक विजेता को 1.5 करोड़ रुपये, रजत पदक विजेता को 75 लाख तथा कांस्य पदक विजेता को 50 लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी। इसके अलावा अन्य 16 खिलाडिय़ों को 7.5 लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी। खेल नीति के अनुसार स्वर्ण पदक विजेता को ए श्रेणी, रजत पदक विजेता को बी श्रेणी तथा कांस्य पदक विजेता को राज्य सरकार में सी श्रेणी की नौकरी दी जाएगी।