अफरीदी - कयामत के दिन तक कश्मीर नहीं मिल मिलेगा, बांग्लादेश भूल गए क्या

07

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी की कुछ वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। साथ में कुछ सैनिक भी नजर आ रहे हैं। दावा है कि शाहिद कुछ दिन पहले पीओके गए। वहां पाकिस्तानी सैनिकों से मिले। भाषण भी दिया। इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। अफरीदी ने मोदी को डरपोक और मानसिक तौर पर बीमार बताया। शाहिद को जवाब पूर्व क्रिकेटर और अब भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने दिया। 

गौतम ने कहा- पाकिस्तान को कश्मीर जजमेंट डे (फैसले वाला दिन) तक नहीं मिलेगा। गंभीर ने पूछा- बांग्लादेश याद है या भूल गए?

संबित ने शेयर किया वीडियो

शाहिद का एक वीडियो को भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी शेयर किया। कैप्शन में लिखा- पाकिस्तानी क्रिकेटर अफरीदी अपने बेगैरत मुल्क के नापाक इरादों को शेयर कर रहे हैं। कुछ भारतीय लोग अफरीदी फाउंडेशन में दान देने की बात कह रहे हैं। वे भी इसकी असलियत जान लें। अन्य कई यूजर्स ने भी अफरीदी का वीडियो शेयर किया है।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी की कुछ वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। साथ में कुछ सैनिक भी नजर आ रहे हैं। दावा है कि शाहिद कुछ दिन पहले पीओके गए। वहां पाकिस्तानी सैनिकों से मिले। भाषण भी दिया। इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। अफरीदी ने मोदी को डरपोक और मानसिक तौर पर बीमार बताया। शाहिद को जवाब पूर्व क्रिकेटर और अब भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने दिया। 

मोदी को मजहब की बीमारी है
अफरीदी वीडियो में पाकिस्तानी सैनिकों से कहते हैं, ‘‘आप लोगों के बीच में आकर मैं खुश हूं। एक बहुत बड़ी बीमारी (कोरोनावायरस) दुनिया में फैली हुई है। लेकिन, इससे भी बड़ी बीमारी मोदी के दिलो-दिमाग में है। यह बीमारी मजहब की है। वे मजहब को लेकर सियासत कर रहे हैं। सालों से कश्मीर में हमारे भाई-बहनों और बुजुर्गों पर जुल्म कर रहे हैं। उन्हें इसका जवाब देना होगा।’’  

‘फौज के पीछे पाकिस्तान के लोग खड़े हैं’
अफरीदी ने कहा, ‘‘वैसे तो मोदी दिलेर बनने की कोशिश करते हैं। लेकिन, वो डरपोक हैं। छोटे कश्मीर के लिए उन्होंने अपनी 7 लाख फौज तैनात की है। जबकि पाकिस्तान की कुल फौज ही 7 लाख है। लेकिन उन्हें यह नहीं पता है कि पाकिस्तानी फौज के पीछे उनके 22-23 करोड़ लोग (पाकिस्तान की आबादी) खड़े हैं। कश्मीर में भी जो लोग पाकिस्तानी फौज का साथ दे रहे हैं, उन्हें सलाम करता हूं।’’

पाकिस्तान 70 साल से कश्मीर की भीख मांग रहा: गंभीर
गंभीर ने शाहिद पर उम्र का तंज कसते हुए कहा, ‘‘16 साल के अफरीदी कहते हैं कि पाकिस्तान की 7 लाख फौज के पीछे 20 करोड़ लोग खड़े हैं, तो फिर 70 साल से कश्मीर के लिए भीख क्यों मांग रहे। अफरीदी, इमरान खान और बाजवा भारत और मोदी के खिलाफ जहर जरूर उगल सकते हैं, लेकिन जजमेंट डे तक कश्मीर नहीं मिलेगा। बांग्लादेश याद है?’’

अफरीदी ने अभिनंदन को लेकर विवादित बयान दिया
एक वीडियो पाकिस्तान की पत्रकार नायला इनायत ने भी शेयर किया। इसमें अफरीदी ने भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को लेकर विवादित बयान दे रहे हैं। अफरीदी ने कहा, ‘‘हमने उनके लोगों को हवा में मारकर गिराया। फिर चाय पिलाकर इज्जत के साथ भिजवाया। दुनिया को हमने यह पैगाम दिया है कि हम अमन पसंद लोग हैं, हम प्यार मोहब्बत की बात समझने वाले लोग हैं। हां, लेकिन आप प्यार मोहब्बत से बात करोगे तब।’’

अफरीदी के समर्थन पर हरभजन और युवराज ट्रोल हुए
हाल ही में हरभजन सिंह और युवराज सिंह ने अफरीदी की संस्था में दान देने के लिए लोगों से अपील की थी। इस कारण भज्जी और युवी का आज ट्रोल किया जा रहा है। इस पर भज्जी ने कहा, ‘‘अफरीदी ने जो किया वह बहुत गलत है। मैं कितना सच्चा देशभक्त हूं, यह किसी को बताने की जरूरत नहीं। जरूरत पड़ने पर देश के लिए बंदूक भी उठा सकता हूं।’’

भारतीय टीम के पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी की पीएम मोदी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर मुंहतोड़ जवाब दिया है। इंडिया टुडे से बात करते हुए हरभजन सिंह ने कहा कि जो अफरीदी ने हमारे पीएम के खिलाफ बोला है वो बिल्कुल भी सहन करने लायक नहीं है। अफरीदी ने इस मामले में अपनी सारी हदें पार कर दी हैं। उन्होंने कहा कि मैं सोचता था कि अफरीदी हमारे दोस्त हैं लेकिन दोस्त कभी ऐसी बात नहीं कर सकता है और आज से मुझे उससे कोई मतलब नहीं है। उन्हें हमारे देश और पीएम के खिलाफ ऐसी बातें बोलने का कोई हक नहीं है। 

'हरभजन सिंह ने शाहिद अफरीदी के लिए की थी अपील'

हरभजन सिंह ने एक वीडियो शेयर किया था जिसमें हरभजन शाहिद अफरीदी के फाउंडेशन को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मदद करने की अपील कर रहे थे। हरभजन ने कहा था  कि पूरी दुनिया में इस वायरस से कई जानें गई हैं। फिर चाहे मैं भारत की बात करूं, अमेरिका की बात करूं, पाकिस्तान की बात करूं या इटली और स्पेन... सब जगह यह बीमारी लोगों को परेशान कर रही है। हम सब इनसानों को एकजुट होना चाहिए। एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। मैं मुबारकबाद देना चाहूंगा शाहिद अफरीदी की फाउंडेशन को जिन्होंने बहुत अच्छा काम किया है इनसानियत के लिए। आप भी इस कैम्पेन का हिस्सा बन सकते हैं। बाद में उनकी यह बात लोगों को पसंद नहीं आई थी।