शिखर धवन को योग ने कर दिया फ्रेश

07

नई दिल्ली: बेंगलुरु कैंप में प्रैक्टिस कर रही टीम में खिलाड़ियों के चेहरों पर ताज़गी साफ महसूस की जा सकती है। शिखर धवन अभ्यास के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में आए तो योग की तारीफ करते देर नहीं लगी। उन्होंने कहा," कैंप में दो-तीन दिनों से योग कर रहा हूं। उसका फायदा भी हो रहा है। काफी फ्रेश हो गया हूं।"

टीम के प्रदर्शन से न जोड़ें
योग के फायदे को मानने से भुवनेश्वर भी इनकार नहीं कर रहे। वे कहते हैं, "इसका फ़ायदा जरूर हो रहा है, लेकिन इसे टीम के प्रदर्शन से नहीं जोड़ सकते। योग से आप अच्छा महसूस करते हैं तो इसका फायदा तो पहुंचेगा ही।" बेंगलुरु कैंप में बारिश के बीच योग के जरिए खिलाड़ियों का फोकस बाहर से बढ़ता महसूस तो किया जा सकता है, लेकिन इस पर कोई नतीजा निकालना यकीनन जल्दबाज़ी होगी।

फोकस बनाने में मददगार
टेस्ट के कड़े इम्तिहान में खिलाड़ियों के फोकस की खासी अहमियत होती है। योग खिलाड़ियों को फोकस बनाने में बहुत मदद कर सकता है। पहले भी सचिन तेंदुलकर सहित अन्य कई दिग्गज योग का सहारा लेते रहे हैं। 90 के दशक में सचिन तेंदुलकर ने अपने खेल के लिए योग गुरू बीकेएस अय्यंगर की मदद ली थी। बाद में भी योग टीम की आदतों का हिस्सा बना रहा। योग के नुस्ख़े के सहारे जबरदस्त फोकस, बुलंद हौसला और सटीक लक्ष्य टीम इंडिया के लिए विंडीज़ में जीत का फ़ॉर्मूला तैयार कर सकता है।  

विंडीज़ दौरे पर टीम की दूसरी कोशिशों के साथ योग भी जीत का नुस्ख़ा बन पाता है तो इसकी टीम में इसकी लोकप्रियता और इस्तेमाल भी जरूर बढ़ेगा।