नॉक आउट मुकाबले में भारत-कोलंबिया की भिड़ंत

07

नई दिल्ली:  फीफा अंडर 17 विश्व कप में आज भारत अपने दूसरे मुकाबले में कोलंबिया से भिड़ेगा। यह मैच दोनों टीमों के लिए नॉक आउट मुकाबला होगा। भारत अपने पहले मैच में अमेरिका से 3-0से हार गया था।पहले मैच में भारत ने जज्बा तो दिखाया था लेकिन कौशल के मामले में अमेरिका उससे मीलों आगे रहा। आज भारत को जीतने कगे लिए भारत को अपने सबसे बेहतर खेल का प्रदर्शन करना होगा।कोलंबिया की टीम बेहद आक्रामक है।भारत के लिए कोलंबिका कड़ी चुनौती साबित होगी।टीम इंडिया के कोच माटोस को टीम से काफी उम्मीदे हैं और उउन्हें पूरा विश्वास है कि अपने दर्शकों के बीच टीम इंडिया बेहतर प्रदर्शन करेगी।कोलंबिया अपने पहले मैच में घाना से हार गया था। इस मैच में दोनों टीम गोल के अतंर को भी बड़ा रखना चाहेगी ताकी अंक तालिका में वह बेहतर स्थान हासिल कर सके।इस टूर्नामेंट में कोलंबिया 5 बार हिस्सा ले चुका है और दो अवसरों पर वह तीसरे स्थान पर रहा है।

फीफा अंडर 17 वर्ल्‍डकप के अपने प्रारंभिक मैच में भारतीय टीम को निराशा हाथ लगी है. अमेरिका ने जवाहर लाल नेहरू स्‍टेडियम में खेले गए मैच में भारतीय टीम को 3-0 से पराजित किया. अमेरिकी टीम के लिए जोश सार्जेंट, क्रिस डार्किन और एंड्रयू कार्लटन ने गोल बनाए. मैच में अमेरिकी टीम ज्‍यादातर समय भारतीय टीम पर हावी रही. आखिरी क्षणों में भारतीय टीम की ओर से कुछ आक्रमण हुए लेकिन टीम गोल करने में नाकाम रही. प्रतियोगिता में भारतीय टीम का मैच देखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जवाहर लाल नेहरू स्‍टेडियम पहुंचे. भारतीय फुटबॉल जगत के दिग्‍गज खिलाड़ि‍यों (पूर्व और वर्तमान) को उन्‍होंने सम्‍मानित किया. पीएम मोदी और खेल मंत्री राज्‍यवर्धन राठौर ने मैच फीफा ऑफिशियल्‍स से भी मुलाकात की. बड़ी संख्‍या में भारतीय फुटबॉलप्रेमी अपनी टीम का हौसला बढ़ाने के लिए पहुंचे.वैसे, भारतीय टीम ने इस मैच में हारने के बावजूद अपने हार न मानने वाले जज्बे से दर्शकों का दिल जीता और इतिहास के पन्नों में अपना नाम भी दर्ज करा लिया जो अब किसी फीफा टूर्नामेंट में भाग लेने वाली पहली भारतीय टीम बन गई है.

अमेरिकी टीम में मैच की शुरुआत से ही आक्रामक खेल दिखाया. शुरुआती 10 मिनट में ज्‍यादातर समय गेंद इस टीम के ही कब्‍जे में रही. इस दौरान टीम को फ्रीकिक भी मिली लेकिन मेहमान टीम इसका फायदा नहीं ले सकी. अमेरिकी हमलों को विफल करने में भारतीय रक्षापंक्ति को बेहद मुस्‍तैद रहना पड़ा. भारतीय समर्थकों के लिहाज से खुशी के क्षण उस समय आए जब 15वें मिनट में टीम को फ्रीकिक मिली लेकिन इसका फायदा नहीं उठाया जा सका. खेल के 30वें मिनट में भारतीय फुटबॉलर धीरज की गलती से अमेरिका को पेनल्‍टी हासिल हुई जिस पर गोल करते हुए जोश सार्जेंट ने अमेरिका को 1-0 की बढ़त दिला दी. एक गोल से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम ने अमेरिकी गोल पर आक्रमण बोला लेकिन इन हमलों में धार नजर नहीं आई.हाफ टाइम तक अमेरिकी टीम 1-0 की बढ़त पर थी.दूसरे हाफ के शुरुआती क्षणों में ही भारत ने धीरज की अगुवाई में आक्रमण किया. इसी दौरान अमेरिकी टीम को अपनी बढ़त को 2-0 करने का मौका मिला था लेकिन इस मौके का फायदा नहीं उठाया जा सका. अमेरिका के लिए दूसरा गोल खेल के 51वें मिनट में क्रिस डॉकिन ने अमेरिका के लिए दूसरा गोल दाग दिया. 56वें मिनट में भारत के पास गोल करने का एक मौका था लेकिन कोमल का किक  गोलपोस्‍ट के ऊपर से चला गया.अमेरिका के लिए तीसरा और अंतिम गोल 84वें मिनट में एंड्रयू कार्लटन ने बनाया.