उम्मीद राहुल की जिदगी में भी एक नया सवेरा लेकर आई

07

झज्जर : गांव कासनी के साधारण परिवार में जन्मे 18 वर्षीय राहुल ने आबूधाबी सऊदी अरब में हुए विश्व स्पेशल ओलंपिक खेलों में साइक्लिंग प्रतिस्पर्धा में कांस्य जीता है। 2013 में झज्जर में बाल कल्याण परिषद के प्रयासों से सवेरा स्कूल के आरंभ होने के बाद विशेष बच्चों के लिए आशा की एक किरण जगी और यह उम्मीद राहुल की जिदगी में भी एक नया सवेरा लेकर आई। इससे पहले राहुल राष्ट्रीय स्तर पर भी कई पदक बटोर चुका है। न सिर्फ राहुल साइक्लिंग में बल्कि बास्केटबॉल, फुटबॉल समेत तमाम खेलों में हमेशा अग्रणी रहा है। अब अंतरराष्ट्रीय खेलों में चयनित होने पर राहुल के अभिभावकों सहित पूरे स्कूल व जिले के साथ-साथ प्रदेश के लोगों में भी खुशी का माहौल है। इधर, विजेता बनकर आए राहुल को बधाई देने जिला बाल कल्याण अधिकारी झज्जर ओमप्रकाश बिब्यान, सवेरा स्कूल प्राचार्य लवकेश, कोच नसीब भारतीय, डॉ. एचएस यादव, प्रसिद्ध समाजसेवी धर्मपाल ने कासनी में पहुंच कर सम्मानित किया।
विशेष बच्चों को मिलेगी प्रेरणा

विजेता बनकर लौटे राहुल को लेने गए हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव कृष्ण ढुल ने कहा कि इससे अधिक गौरवान्वित क्षण बाल कल्याण परिषद के लिए क्या हो सकते हैं कि सवेरा स्पेशल स्कूल झज्जर का बच्चा विश्व स्पेशल ओलंपिक में कांस्य पदक जीतकर पूरे देश का सिर गर्व से ऊंचा करने का कार्य किया है। इससे अन्य होनहार बच्चों को भी प्रेरणा व मार्गदर्शन मिलेगा। ताकि वह भी अपने अंदर की छुपी हुई प्रतिभा को पहचान अन्य क्षेत्रों में बड़े मुकाम को हासिल करेंगे। बॉक्स :

स्पेशल ओलंपिक में पदक विजेता खिलाड़ी राहुल ने कहा कि खेल उनके जीवन में बसे हैं और वे खेलते वक्त सिर्फ खेलते हैं और कुछ भी नहीं सोचते। कोच नसीब भारतीय ने कहा कि राहुल की जिदगी में बेहद बदलाव हुए हैं और वह स्पेशल बच्चा है। राहुल ने कठिन परिश्रम के फल स्वरूप उसकी जिदगी का उद्देश्य खेल बन गया है। उन्होंने कहा कि मेरा यही प्रयास है कि हमारे स्कूल का हर एक बच्चा एक विशेष लक्ष्य को लेकर जीवन जिए और उसे सार्थक करने का प्रयास करें।

राहुल के पिता फूलकुंवार के मुताबिक जो सपना मैंने देखा भी नहीं था वो सपना आज राहुल ने पूरा कर दिया। इस मौके पर समाजसेवी धर्मपाल ने राहुल को 31000 की माला व कोच नसीब को 21000 की माला डाल कर सम्मानित किया गया। ब्लॉक समिति मेंबर कासनी रामकेश ने भी 11000 रुपये देकर राहुल का मान सम्मान किया, साथ ही सरपंच रईया प्रदीप द्वारा 5100 रुपये की घोषणा करके राहुल का मान सम्मान किया। इस मौके पर सवेरा स्कूल की अध्यापिका पिकी दलाल, कासनी सरपंच रामकुमार, पूर्व सरपंच मातूराम साहब, दिलबाग प्रधान, धनीराम साहब, मास्टर सुखबीर आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।