वैक्सीन नहीं बनी तो ओलिंपिक होना मुश्किल

07

टोक्यो. ग्लोबल हेल्थ साइंटिस्ट ने कहा है कि जब तक कोरोनावायरस की वैक्सीन तैयार नहीं हो जाती तब तक टोक्यो ओलिंपिक का आयोजन मुश्किल है। ओलिंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया है। अब यह गेम्स अगले साल जुलाई-अगस्त में होंगे। वहीं, दूसरी ओर टोक्यो ओलिंपिक के लिए खेलगांव बनाया गया था, जिसमें अब कोरोना के कारण बेघर हुए लोगों को रखने की मांग की जा रही है।

आईओसी कोआर्डिनेशन कमीशन के अध्यक्ष जॉन कोट ने स्वीकार किया कि कोरोनावायरस री-शेड्यूल हुए ओलिंपिक को प्रभावित कर सकता है। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के ग्लोबल हेल्थ के अध्यक्ष और प्रोफेसर देवी श्रीधर ने कहा, ‘‘ओलिंपिक के समय पर होने के लिए वैक्सीन जरूरी है। बिना वैक्सीन के गेम्स का होना असंभव है।’’

खेलगांव में बेघर हुए लोगों को रखने की मांग
कोरोनावायरस के कारण बेघर हुए लोगों के ग्रुप ने टोक्यो ओलिंपिक के लिए बने खेलगांव की मांग की है। आयोजकों और स्थानीय प्रशासन के नाम लिखी एक ऑनलाइन याचिका में खेलगांव के परिसर के इस्तेमाल की अनुमति मांगी है। इस याचिका पर हजारों लोगों के हस्ताक्षर हैं। आयोजकों ने टिप्पणी करने से फिलहाल इनकार कर दिया।