मुझे दुनिया बोझ समझती है...यह कहकर क्रिस गेल ने ली विदाई

07

नई दिल्ली. काफी समय से अपने खराब प्रदर्शन के कारण आलोचनाओं का सामना कर रहे वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल  का आखिरकार दर्द सामने आ ही गया. उन्होंने अपने दिल में दबी हुई बात को कहकर साउथ अफ्रीका में खेली जा रही मजांसी टी-20 लीग से विदाई ले ली है.  कैरेबियाई विस्फोटक बल्लेबाज गेल मजांसी सुपर लीग में जोजी स्टार्स की ओर से खेलते हैं और गत चैंपियन ने अभी तक छह मुकाबले खेले हैं और अभी तक अपना खाता भी नहीं खोल पाई. गेल ने कहा कि उन्हें हार का जिम्मेदार न ठहराया जाए.ईएसपीएन से बात करते हुए उन्होंने अपने दर्द को सबके सामने रखते हुए कहा कि टी-20 लीग में उनके साथ अच्छा बर्ताव नहीं किया जाता और वह इससे दुखी हैं. गेल ने कहा कि उनको सभी लीग में वह सम्मान नहीं मिल पाता है, जिसके वह हकदार हैं. 40 साल के सलामी बल्लेबाज गेल ने इस लीग में छह पारियों में सिर्फ 101 रन बनाए और इसी के साथ टूर्नामेंट को अलविदा कह दिया. रविवार को उन्‍होंने टूर्नामेंट का आखिरी मुकाबला खेला था, जिसमें उन्होंने 54 रन की शानदार पारी खेली थी, जो इस टूर्नामेंट में उनकी आखिरी पारी रही.उन्हाेंने कहा कि जब एक या दो मैच में उनके बल्ले से रन नहीं निकलते तो अचानक ही वह टीम के लिए बोझ बन जाते हैं. गेल ने यह भी साफ कर दिया है कि इस बात को वह किसी एक टीम के लिए नहीं कह रहे हैं, बल्कि पिछले काफी समय से कई फ्रेंचाइजी के साथ खेलने के आधार पर कह रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर दो तीन मैच में रन नहीं पाते हैं तो क्रिस गेल बाेझ हैं. ऐसा महसूस होता है जैसे एक खिलाड़ी ही पूरी टीम के बोझ बन गया और अगर एक बार ऐसा हो जाता है तो फिर इसके बाद कई तरह की बातें सुनते हैं. उन्होंने कहा ‌आपने क्या किया है, लोग वो भूल जाते हैं.