सिंधु ने रचा इतिहास, पहली बार जीती वर्ल्ड चैंपियनशिप

07

पीवी सिंधु ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. वह वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय शटलर हैं. फाइनल मुकाबले में उन्होंने जापान की नोजुमी ओकुहारा को 21-7,21-7 से मात दी.सिंधु ने फाइनल मुकाबले को एक तरफा बना दिया . सिंधु के स्मैश पर ओकुहारा ने रिवर्ट किया लेकिन सिंधु के बैकहैंड शॉट का जवाब उनके पास नहीं था और इसके साथ ही सिंधु ने 16-4 की लीड हासिल की लगातार दो अंक हासिल करने के बाद ओकुहारा ने नेट्स पर गलती की और सिंधु को अंक दिया. सिंधु के अग्रेसिव अटैक के सामने  ओकुहारा  खुलकर अपना खेल नहीं दिखा पाई iसिंधु ने पहला गेम 21-7 से अपने नाम किया. पहले गेम में वह पूरी तरह हावी रही और ओकुहारा को वापसी के कम मौके दिए. सिंधु ने इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के पिछले दो चरण में लगातार सिल्वर मेडल हासिल किए, इसके अलावा उनके नाम दो ब्रॉन्ज मेडल भी हैं. हैदराबादी खिलाड़ी ने 40 मिनट तक चले सेमीफाइनल में चीन की दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी चेन यु फेई को 21-7 21-14 से शिकस्त दी.साल 2017 के वर्ल्ड चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले सिंधु ने ओकुहारा के खिलाफ टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे लंबा महिला सिंगल्स का फाइनल खेला था.

सिंधु को 110 मिनट तक चले मैराथन मुकाबले में जापान की नोजोमी ओकुहारा (Nozomi Okuhara) से हार का सामना करना पड़ा ‌था. अब एक बार फिर दोनों दिग्गज उसी स्‍टेज पर एक दूसरे का आमना-सामना करने को तैयार हैं. 2017 में दोनों के बीच 73 शॉट्स की रैली खेली गई थी.इसके एक साल बाद फाइनल में कैरोलिना मारिन ने उन्हें मात दी थी. वर्ल्ड चैंपियनशिप में पांच मेडल के साथ महिला सिंगल की संयुक्त सबसे सफल खिलाड़ी पीवी सिंधु ने पहली बार इस टूर्नामेंट के अंतिम चार में 2013 में प्रवेश किया था.