बत्रा ने विरोध में आईओए उपाध्यक्ष का पद छोड़ा

07

नई दिल्ली। वरिष्ठ खेल प्रशासक नरिंदर बत्रा ने दागी सुरेश कलमाड़ी और अभय सिंह चौटाला को आजीवन मानद अध्यक्ष बनाने के फैसले के खिलाफ शुक्रवार को भारतीय ओलंपिक संघ के संबद्ध उपाध्यक्ष का पद छोड़ दिया।एफआईएच अध्यक्ष बत्रा ने कहा कि वह कलमाड़ी और चौटाला के आईओए में पिछले दरवाजे से प्रवेश का सख्त विरोध करते हैं।

बत्रा हाल में अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ एफआईएच के अध्यक्ष बने थे। उन्होंने आईओए अध्यक्ष एन रामचंद्रन और महासचिव राजीव मेहता को लिखे पत्र में लिखा, ‘‘यह ध्यान में रखते हुए कि आपने - आईओए ने आम सालाना बैठक के तीन दिन बाद भी आजीवन अध्यक्ष के नामांकन वापस लेने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की, जिससे इस फैसले के खिलाफ आपत्ति और विरोध स्वरूप मैं आईओए के संबद्ध उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा सौंपता हूं। ’’

इन नियुक्तियों का कड़ी आपत्ति जताते हुए बत्रा ने कहा, ‘‘मैंने कुछ सदस्यों से पूछा और किसी ने भी पुष्टि नहीं की कि उन्हें 27 दिसंबर 2016 को आईओए की आम सालाना बैठक से सात दिन पहले आईओए में आजीवन अध्यक्ष की नियुक्ति से संबंधित किसी तरह की सूचना मिली थी। ’’हाकी इंडिया के पूर्व प्रमुख बत्रा ने कहा, ‘‘मैं आईओए की आम बैठक में दो आजीवन अध्यक्षों के नामांकन के संबंध में लिए गए फैसले का समर्थन नहीं करता और इस मौके पर उस एक आजीवन अध्यक्ष का भी शुक्रिया करना चाहूंगा जिसने आईओए की पेशकश स्वीकार करने से इनकार कर दिया। ’’