हिमा दास ने रचा इतिहास,गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला

07

हिमा दास ने इतिहास रचा, जब वो आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप के महिला 400 मीटर फाइनल में खिताब के साथ विश्व स्तर पर गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनीं। खिताब की प्रबल दावेदार 18 साल की हिमा दास ने 51.46 सेकेंड के समय के साथ गोल्ड मेडल जीता, जिसके बाद भारतीय खेमे ने जबर्दस्त जश्न मनाया।

वो हालांकि 51.13 सेकेंड के अपने निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से पीछे रहीं। हिमा दास से पहले भारत की किसी भी महिला ने विश्व चैंपियनशिप के किसी भी स्तर पर गोल्ड मेडल नहीं जीता था। वो विश्व स्तर पर ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी हैं। चौथे नंबर की लेन में दौड़ रही हिमा दास अंतिम मोड़ के बाद रोमानिया की आंद्रिया मिकलोस से पिछड़ रही थीं, लेकिन अंत में काफी तेजी दिखाते हुए वो बाकी धावकों से काफी आगे रहीं।

हिमा ने देशवासियों को दिया ये संदेश

मिकलोस ने 52.07 सेकेंड के साथ सिल्वर मेडल हासिल किया जबकि अमेरिका की टेलर मेनसन ने 52.28 सेकेंड के साथ ब्रोन्ज मेडल जीता। असम की हिमा दास ने दौड़ के बाद कहा, 'विश्व जूनियर चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर मैं काफी खुश हूं। मैं स्वदेश में सभी भारतीयों को धन्यवाद देना चाहती हूं और उन्हें भी जो यहां मेरी हौसलाअफजाई कर रहे थे।'

नीरज चोपड़ा के साथ इस खास क्लब में शामिल हुईं हिमा...

वो भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की लिस्ट में शामिल हो गईं, जिन्होंने 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकार्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता था। विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भारत के लिए इससे पहले सीमा पूनिया (2002 में चक्का फेंक में ब्रोन्ज) और नवजीत कौर ढिल्लों (2014 में चक्का फेंक में ब्रोन्ज) पदक जीत चुके हैं। हिमा मौजूदा अंडर-20 सीजन में सर्वश्रेष्ठ समय निकालने के कारण यहां खिताब की प्रबल दावेदार थीं। वो अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 400 मीटर स्पर्धा में तत्कालीन भारतीय अंडर-20 रिकॉर्ड 51.32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर रही थीं।

इसके बाद गुवाहाटी में हाल में राष्ट्रीय अंतर राज्य चैंपियनशिप में उन्होंने 51.13 सेकेंड के साथ अपने इस रिकॉर्ड में सुधार किया। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के अध्यक्ष आदिले सुमारिवाला ने हिमा दास को स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई दी। इसके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी हिमा को बधाई दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली महिला धाविका हिमा दास की ट्रैक पर ‘विजयी दौड़’ का ट्विटर पर वीडियो जारी कर कहा है कि राष्ट्र गान गाते समय हिमा की भाव विह्लता ने उनके मन को छू लिया। मोदी ने वीडियो के साथ ट्वीट किया, ''हिमा की जीत के ‘अविस्मरणीय’ क्षण। जीत के बाद हिमा की तिरंगे के प्रति उत्सुकता और राष्ट्र गान गाते हुए उसकी भाव विह्लता ने मेरे मन को गहराई तक छू लिया।'' उन्होंने लिखा, ''कौन भारतीय होगा जिसकी आंखें खुशी से नहीं छलकेंगी।''  

18 वर्षीय हिमा ने फिनलैंड के टेम्पेरे में आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर रेस का स्वर्ण पदक जीता है, जिसके साथ ही वह विश्व चैंपियनशिप के किसी भी आयु वर्ग में एथलेटिक्स का स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बन गयी हैं जबकि विश्व चैंपियनशिप में ट्रैक में भी यह भारत का पहला स्वर्ण पदक है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी अपने ट्वीट संदेश में लिखा, ''यह भारत का विश्व चैंपियनशिप में पहला ट्रैक गोल्ड है। यह असम और भारत के लिए गौरव का क्षण है। अब ओलंपिक पोडियम का इंतजार है।''पीएम मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा था ''भारत को एथलीट हिमा दास पर गर्व है जिन्होंने विश्व चैंपियनयशिप अंडर-20 में महिलाओं की 400 मीटर रेस का स्वर्ण पदक जीता है, आपको बहुत बधाई। हिमा आपकी यह उपलब्धि निश्चित ही आने वाले वर्षाें में युवा एथलीटों को प्रेरित करेगी।'' हिमा ने जीत के बाद अपने पिता से फोन पर कहा था, ''जब आप सब सो रहे थे मैंने दुनिया में धमाल मचा दिया।''